11 बार के विधायक रहे वरिष्ठ नेता का लंबी बीमारी के बाद निधन, CM ने जताया शोक

मुंबई, डेस्क रिपोर्ट। सबसे लंबे समय तक विधायक (MLA) रहे वरिष्ठ नेता गणपतराव देशमुख (Ganpatrao Deshmukh) शुक्रवार देर सोलापुर के एक अस्पताल (hospital) में निधन हो गया। गणपतराव देशमुख ने 1962 से 11 बार सोलापुर (Solapur) जिले का प्रतिनिधित्व किया और विधायक बने। 54 वर्षों तक एक विधायक के रूप में कार्य करते हुए गणपतराव देशमुख ने जिले में प्रभाव छोड़ें। वहीं 15 दिनों से अस्पताल में भर्ती होने की वजह से और वृद्धावस्था की उम्र में बीमारियों के कारण 94 वर्ष की उम्र में उनका निधन हो गया।

Read More : Transfer: तबादले फर्जीवाड़े में नया मोड़, 30 अधिकारियों को भेजा गया नोटिस, FIR दर्ज

पूर्व विधायक के निधन पर मुख्यमंत्री Uddhav Thackeray सहित राज्यपाल ने शोक व्यक्त किया है। पूर्व विधायक और पीजेंट्स एंड वर्कर्स पार्टी (पीडब्ल्यूपी) के वरिष्ठ नेता गणपतराव देशमुख का लंबी बीमारी के कारण शुक्रवार को सोलापुर में निधन हो गया। वह 94 वर्ष के थे। गणपतराव पिछले 15 दिनों से सोलापुर के अश्विनी अस्पताल में भर्ती थे और उनके गॉल ब्लैडर में कई पथरी होने के बाद उनकी सर्जरी हुई थी।

Read More: नेता तुम्हीं हो कल के…. BJP विधायक के 2 साल के पोते का डिबेट करते देखिए मजेदार VIDEO

गणपतराव देशमुख पहली बार 1962 में विधायक चुने गए थे और उन्होंने 1972 और 1995 को छोड़कर 11 चुनाव जीते हैं। वह पहली बार 1978 में शरद पवार के नेतृत्व वाली प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक फ्रंट सरकार में और 1999 में दूसरी बार मंत्री बने।