i july 2021

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  केंद्र सरकार (central government) के 7वें वेतन आयोग (7th pay commission) के कर्मचारियों के लिए एक अच्छी खबर है। उन्हें 2021-22 की जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए उनके सामान्य भविष्य निधि (GPF) और अन्य सेवानिवृत्ति योजनाओं पर 7.1 प्रतिशत ब्याज दर (interest rate) मिलेगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि केंद्र सरकार ने पिछले हफ्ते जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए GPF ब्याज दर को अपरिवर्तित रखा था। वित्त मंत्रालय (finance ministry) की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक GPF की ब्याज दरें 7.1 फीसदी पर अपरिवर्तित रहेंगी।

केंद्र की ओर से की गई घोषणा उन सरकारी कर्मचारियों के लिए एक बहुत बड़ा आशीर्वाद है जो इस समय COVID महामारी के दौर से गुजर रहे हैं। घोषणा के अनुसार, राज्य रेलवे भविष्य निधि खाते (State Railway Provident Fund Accounts) पर भी 7.1 प्रतिशत ब्याज मिलेगा और इससे रेलवे कर्मचारियों को लाभ होगा। विशेष रूप से, यह ब्याज दर प्रत्येक कर्मचारी के लिए समान रहेगी।

Read More: कर्मचारियों को जुलाई महीने में मिलेगा बड़ा तोहफा! सरकार दे सकती है DA वृद्धि पर मंजूरी

इससे पहले केंद्र ने अप्रैल में अप्रैल-जून तिमाही के लिए समान ब्याज दर की घोषणा की थी। यह लगातार छठी तिमाही है जब सरकार ने जीपीएफ ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया है। अप्रैल 2020 में सरकार ने जीपीएफ की ब्याज दर 7.9 फीसदी से घटाकर 7.1 फीसदी कर दी थी।

ब्याज दर निम्नलिखित भविष्य निधि योजनाओं पर लागू होगी:

  • सामान्य भविष्य निधि (केंद्रीय सेवाएं)
  • अंशदायी भविष्य निधि
  • अखिल भारतीय सेवा भविष्य निधि
  • राज्य रेलवे भविष्य निधि
  • सामान्य भविष्य निधि (रक्षा सेवाएं)
  • भारतीय आयुध विभाग भविष्य निधि
  • भारत आयुध निर्माणी कर्मकार भविष्य निधि
  • भारतीय नौसेना डॉकयार्ड कर्मकार भविष्य निधि
  • रक्षा सेवा अधिकारी भविष्य निधि
  • सशस्त्र बल कार्मिक भविष्य निधि

राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र ब्याज दर: वित्त मंत्रालय ने कहा कि एक जुलाई 2021 से शुरू हो रहे वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के लिए विभिन्न छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर पहले की तरह ही रहेगी।

सेवानिवृत्ति योजनाओं की ब्याज दरें: वित्त मंत्रालय ने यह भी कहा कि पांच साल की आवर्ती जमा पर 5.8 प्रतिशत ब्याज मिलता रहेगा।