Unlock के बाद MP में एक्टिव केस 5000, सीएम बोले- सतर्क रहे, लापरवाही नहीं

MP के दो जिलों इंदौर और भोपाल में एक प्रतिशत से अधिक साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर है।

CM शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।MP में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 397 नए प्रकरण सामने आए हैं और 1240 मरीज स्वस्थ हुए हैं, जिसके बाद एक्टिव केसों की संख्या 5447 हो गई है।इसके बाद साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 0.7% और आज की पॉजिटिविटी दर 0.5% है। एक दिन में 79 हजार 261 टेस्ट किए गए हैं। इस पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि रिकवरी रेट 98.2% हो गई है। प्रदेश का कोरोना संक्रमण की दृष्टि से देश में 23 वाँ स्थान है। फिर भी, हमें सतर्कता में थोड़ी भी कमी नहीं करनी है।

यह भी पढ़े.. MP College: कॉलेज और छात्रों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण बहुत कम हो गया है। प्रदेश के 50 जिलों में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट एक प्रतिशत से नीचे आ गई है और प्रतिदिन नए प्रकरण 400 से नीचे आ गए हैं। रिकवरी रेट 98.2% हो गई है। प्रदेश का कोरोना संक्रमण की दृष्टि से देश में 23 वाँ स्थान है। फिर भी, हमें सतर्कता में थोड़ी भी कमी नहीं करनी है। हर व्यक्ति मास्क लगाए, परस्पर दूरी रखे और अन्य सभी सावधानियाँ बरते।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अब प्रदेश के 3 जिलों इंदौर, भोपाल और जबलपुर में 10 से अधिक नए प्रकरण आए हैं। वहीं 11जिलों में 5 से अधिक नए प्रकरण हैं। इंदौर में 117, भोपाल में 97, जबलपुर में 34, बैतूल में 8, ग्वालियर में 8, हरदा में 7,खरगौन में 7, रतलाम में 7, रायसेन में 6 और राजगढ़ में 6 नए प्रकरण आए हैं। MP के दो जिलों इंदौर और भोपाल में एक प्रतिशत से अधिक साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर है। इंदौर में 1.2% और भोपाल में 1.8% साप्ताहिक औसत पॉजिटिविटी दर है। शेष 50 जिलों में एक प्रतिशत से कम पॉजिटिविटी दर है।

यह भी पढ़े.. VIDEO VIRAL : तुलसी सिलावट ने पूछा- पहचाना, कौन हूं मैं, महिला बोली- कमलनाथ

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रत्येक कोरोना मरीज की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की जाए और कोई भी मरीज छुपा न रहे यह सुनिश्चित किया जाए। एक-दो प्रकरण होने पर भी माइक्रो कंटेनमेन्ट क्षेत्र बनाएँ, जिससे संक्रमण फैले नहीं।MP में सभी जिलों में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृ‍ढ़ीकरण के लिये बिस्तर बढ़ाने, ऑक्सीजन पाइप लाइन डालने और ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने आदि का कार्य चल रहा है। प्रभारी मंत्री अपने जिलों में इन कार्यों का निरीक्षण करें और सुनिश्चित करें कि उत्तम गुणवत्ता का काम समय पर हो।