भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश की राजधानी भोपाल (bhopal) में सुबह बड़ी कार्रवाई की गई। Habibganj station पर 3 लाख रूपए रिश्वत (bribe) लेते रंगेहाथ प्रभारी एग्जीक्यूटिव इंजीनियर को दबोचा गया है। इस दौरान लोकायुक्त (lokayukt) ने प्रभारी एग्जीक्यूटिव इंजीनियर के भोपाल स्थित घर पर भी छापेमार कार्रवाई की। वही लोकायुक्त द्वारा मकान से मिले दस्तावेजों की जांच की जा रही है।

जानकारी की माने 58 वर्षीय प्रभारी एग्जीक्यूटिव इंजीनियर ऋषभ जैन (rishabh jain) के घर से डेढ़ किलो सोने सहित 70 हज़ार रुपए जब्त किए गए हैं। लोकायुक्त की टीम को एग्जीक्यूटिव इंजीनियर ऋषभ जैन के दोनों मकानों में से 700-700 ग्राम सोना मिला है। इसके अलावा नगद सहित कई बैंक पासबुक (bank passbook) भी बरामद की गई है। पुलिस छानबीन में जुटी हुई है।

Read More: बीडी शर्मा की केंद्रीय मंत्री Scindia से बड़ी मांग, ज्योतिरादित्य जल्द देंगे MP को नया तोहफा!

पुलिस की माने तो एग्जीक्यूटिव इंजीनियर के घर और बैंक लॉकर की जांच की जा रही है। बैंक लॉकर (bank locker) से सोने के जेवर सहित जमीन के कई दस्तावेज बरामद किए गए हैं। सूत्रों की माने तो सोने से मिली पुश्तैनी संपत्ति नहीं है बल्कि इसे हाल ही में खरीदा गया है।

मामले में डीएसपी संजय जैन का कहना है के संबंध में एग्जीक्यूटिव इंजीनियर से पूछताछ की जा रही है। वहीं मामले में जबलपुर लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक अनिल विश्वकर्मा का कहना है कि प्रभारी कार्यपालन यंत्री के खिलाफ रिश्वत मांगने की शिकायत मिली थी। जिसके बाद मंगलवार की सुबह लोकायुक्त द्वारा उन्हें 3 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया है। वहीं आय से अधिक संपत्ति के मामले में भी पता लगाया जा रहा है। वहीं उन पर भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत कार्रवाई की जा रही है।