भोपाल गैस लीक: TI समेत 10 बीमार, 70 परिवारों को किया शिफ्ट, कमलनाथ बोले- मामले की जांच हो

इस गैस की चपेट में शाहजहांनाबाद TI सौरभ पांडे भी आ गए और उनकी तबीयत बिगड़ गई,जिसके बाद उन्हें प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बुधवार रात मदर इंडिया कॉलोनी में उस वक्त हड़कंप मच गया जब अचानक नगर निगम के वाटर फिल्टर प्लांट से क्लोरीन गैस का रिसाव होने लगा।गैस के प्रभाव से लोगों की सांसें फूलने लगीं और आंखों में जलन महसूस होने लगी।  दहशत में लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। कुछ देर बाद निगम अमले ने सिलेंडर को पानी के टैंक में फेंककर गैस रिसाव को बाहर फैलने से रोक लिया।

यह भी पढ़े..Lunar Eclipse 2022: नवंबर में लगेगा साल का दूसरा चंद्र ग्रहण, राशियों पर पडे़गा असर! जानें डेट-टाईम

आनन फानन में ​नाले के किनारे रहने वाले 70 से ज्यादा परिवारों को शिफ्ट किया गया। खाली घरों में चोरी न हो जाए, इसलिए बुधवार को रातभर पुलिस तैनात रही। गुरुवार सुबह पूरी तरह से स्थिति नियंत्रित हो गई है। अब गैस का असर नहीं है।घटना बुधवार रात 11.30 बजे की है।पानी में क्लोरीन अधिक मिलने की वजह से इसे बहाया गया, इसलिए सुबह ईदगाह हिल्स, माडल ग्राउंड, शाहजहांनाबाद, कोहेफिजा और लालघाटी समेत आसपास की 50 से अधिक कालोनियों में जलापूर्ति नहीं हो पाई।

इस गैस की चपेट में शाहजहांनाबाद TI सौरभ पांडे भी आ गए और उनकी तबीयत बिगड़ गई,जिसके बाद उन्हें प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। इधर, आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ होने पर 10 से ज्यादा लोगों को हमीदिया में भर्ती कराया गया है। क्लोरीन गैस सिलेंडर से लीक हुई। पहले इसके टैंक से रिसने की बात सामने आई थी। घटना के बाद अब एहतियातन प्रभावित इलाके में गुरुवार 27 अक्टूबर को पानी की सप्लाई नहीं की जाएगी।

यह भी पढ़े..शिवराज सरकार की बड़ी तैयारी, सभी पंचायतों को मिलेगा लाभ, छात्रों का भी होगा सम्मान

सूचना मिलते ही कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग, महापौर मालती राय, कलेक्टर अविनाश लवानिया, निगम कमिश्नर केवीएस चौधरी कोलसानी मौके पर पहुंचे। घटना की सूचना मिलने पर गैस राहत मंत्री विश्वास सारंग और भोपाल की मेयर मालती राय हमीदिया अस्पताल पहुंचे और घायलों का हाल चाल जाना। सिलेंडर का वजन करीब 900 किलो था, जिसे तुरंत नगर निगम की टीम ने पानी में डालकर गैस को हवा में मिलने से रोका गया। इसके बाद 5 किलो कास्टिक सोडा डालकर गैस लीकेज को बंद किया गया।

कमलनाथ ने किया ट्वीट

इस मामले को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, भोपाल की मदर इंडिया कॉलोनी में क्लोरीन गैस टैंक के लिकेज होने से लोगों को आंखों में जलन एवं सांस लेने में तकलीफ़ व कुछ लोगों के अस्पताल में भर्ती होने की ख़बर सामने आयी है। इस मामले में सभी पीड़ित लोगों के इलाज की पूर्ण व्यवस्था हो. इस पूरे मामले की जांच हो. सुरक्षा के सभी आवश्यक कदम उठाये जाये।