Jabalpur : EOW की बड़ी कार्रवाई, करोड़ों का आसामी निकला नगर निगम का सहायक यंत्री, 5 करोड़ की बेनामी संपत्ति उजागर

छापामार कार्रवाई में सोने के आभूषण जिसकी कीमत 15 लाख आंकी गई है। इसके अलावा चांदी के आभूषण और बर्तन जिसकी कीमत 2 लाख 80 हजार रूपए है

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। आय से अधिक संपत्ति (disproportionate assets) मामले में नगर निगम के सहायक यंत्री पर EOW (Jabalpur EOW) ने बड़ी कार्रवाई की है। छापामार कार्रवाई में ईओडब्ल्यू की टीम को नगर निगम के सहायक यंत्री के पास आलीशान मकान सहित नगदी, जेवर और वाहन सहित पांच करोड़ से अधिक की संपत्ति का पता चला है। छापामार कार्रवाई पर विस्तृत जानकारी देते हुए आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ के पुलिस अधीक्षक देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि आय से अधिक संपत्ति की शिकायत के बाद इसके गोपनीय सत्यापन किए गए थे। EOW उपनिरीक्षक विशाखा तिवारी ने सत्यता प्रमाणित की।

जिसके बाद साक्ष्यों के आधार पर जो आंकड़े सामने आए हैं। उसमें सहायक यंत्री के आय की तुलना में उनके द्वारा व्यय और अर्जित की गई संपत्ति 203% अधिक पाई गई है। सहायक यंत्री के घर से कई लग्जरी सामान मिले हैं। इसके अलावा उन्होंने अपनी बेटी को शादी में एक मकान तोहफे में दिया है। इतना ही नहीं सहायक यंत्री एक स्कूल में भी पार्टनरशिप में है। जबकि मंडला और जबलपुर में भी जमीन खरीदी के दस्तावेज बरामद किए गए हैं।

Read More : MP : विभाग की बड़ी तैयारी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता-स्व सहायता समूह की महिलाओं को मिलेगा लाभ, इस तरह उपलब्ध होगी पेंशन की राशि

छापामार कार्रवाई में सोने के आभूषण जिसकी कीमत 15 लाख आंकी गई है। इसके अलावा चांदी के आभूषण और बर्तन जिसकी कीमत 2 लाख 80 हजार रूपए है। साथ ही डेढ़ लाख रुपए नगद बैंक ऑफ इंडिया में एक लॉकर सहित रतन नगर में 3900 वर्ग फुट आलीशान मकान का निर्माण सहित पैतृक भूखंड रतन नगर के 1500 वर्ग फुट पर पुराने मकान को तोड़कर नए आलीशान मकान का निर्माण कराया गया है। इसके अलावा करेंस कार, सेल्टोस कार सहित मारुति सुजुकी और मोटरसाइकिल स्कूटी भी बरामद की गई है।

साथ ही बैंक में जमा राशि लगभग 6 लाख 40 हजार आंकी गई है। जबकि घरेलू सामान और वाहनों की कीमत 75 लाख रुपए बाजार मूल्य की गई है। सुबह करीब 6:00 बजे निरीक्षक स्वर्ण जीत सिंह धामी के साथ ईओडब्ल्यू की 12 सदस्यीय टीम ने आदित्य शुक्ला के घर पहुंचे थे। वही वारंट दिखाने के साथ ही सर्च कार्रवाई शुरू की गई थी।