MP : सीएम शिवराज की सख्ती- गरीबों के पैसे खाने वाले को नहीं करेंगे माफ, अवैध कब्जे हटाने सहित दिए कई निर्देश

विद्यालय में पुस्तकालय और मार्गदर्शन केंद्र स्थापित करने संबंधित बातों पर भी विचार किया जा रहा है।

MP shivraj singh chouhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में सीएम शिवराज (cMShivraj) एक बार फिर से एक्शन (Action) ने नजर आ रहे हैं। इस दौरान सीएम शिवराज ने कहा कि गरीबों के पैसे खाने वाले को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्हें सख्त से सख्त सजा दी जाएगी। इसके साथ ही अनुसूचित जाति व जनजाति कल्याण पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज ने कहा जल्द छात्रों को लाभ दिया जाएगा। इसके अलावा विद्यार्थियों (students) के लिए संचालित छात्रावास (hostels) के शिक्षकों का कैडर भी तैयार किया जाएगा।

सीएम शिवराज ने कहा कि छात्रावास निरीक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया में एक तरफ जहां प्रभारी मंत्री शामिल होंगे। इसके साथ ही 3 साल से अधिक अवधि में एक ही छात्रावास में बौद्धिक शिक्षकों को भी बदलने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।प्रभारी मंत्रियों को निर्देश देते हुए सीन शिवराज ने कहा अनुसूचित जनजाति जाति वर्ग के छात्रों के लिए संचालित छात्रावास का दौरा अवश्य किया जाए और प्रभारी मंत्री जिले के दौरे के समय आवश्यक रूप से छात्रावास का भ्रमण करें। इसके अलावा छात्रावास में सीटों की संख्या बढ़ाने पर भी विचार किया गया है।

Read More : कर्मचारियों को सरकार का बड़ा तोहफा, मानदेय-वेतन में वृद्धि का ऐलान, 20 से 30 हजार तक बढ़कर आएगी राशि

अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के बच्चों को अच्छी शिक्षा देने के लिए आवासीय विद्यालय में सीबीएसई पाठ्यक्रम लागू करने सहित अंग्रेजी की शिक्षा को अनिवार्य करने और कोचिंग के लिए विशेष व्यवस्था करने संबंधित विचारों पर भी सुझाव सामने आए हैं। साथ ही बैठक में ऐसे विद्यार्थियों के प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मार्गदर्शन उपलब्ध कराने के साथ विद्यालय में पुस्तकालय और मार्गदर्शन केंद्र स्थापित करने संबंधित बातों पर भी विचार किया जा रहा है।

इतना ही नहीं चिंतन बैठक के दौरान हर विकासखंड में प्रति महीने 7 दिन के शिविर आयोजित करने के भी सुझाव मिले हैं। जिससे जनजातियों की सुविधा को ध्यान में रखकर उनके बहुल क्षेत्रों में एटीएम संचालित करने पर विचार किया जा रहा है। जानकारी देते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि मध्य प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग के 14 विद्यार्थी विदेशों में अध्ययन कर रहे हैं जिस पर ₹50 खर्च हो रहे हैं। ऐसे विद्यार्थियों की सूची छात्रावास में प्रदर्शित किया जाए।

जिससे वहां पढ़ने वाले बच्चों को इनसे प्रेरणा मिल सके। इसके साथ ही सीएम शिवराज ने कहा कि अनुसूचित जाति बहुल 30 जिलों में और आवासीय विद्यालय खोले जाएंगे। जिस पर विचार किया जा रहा है। सबसे निर्देश देते हुए शिवराज ने कहा कि अनुसूचित जातियों में मांगलिक भवन पर कब्जे हो रहे हैं। उसे तत्काल खाली कराया जाए। साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि मंगल भवन जिस उद्देश्य से बनाए गए हैं। उसमें वही गतिविधियां संचालित की जाए।