UnLock से पहले शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, स्कूल-कॉलेज खोलने मंत्री समूह का गठन

इससे पहले आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सभी जिला के संभागीय आयुक्त और कलेक्टरों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक करेंगे।

shivraj singh chouhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 1 जून से शिवराज सरकार द्वारा मध्य प्रदेश (madhya pradesh) को धीरे-धीरे अनलॉक (UnLock) करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। प्रदेश को चरणबद्ध तरीके से खोलने के लिए अनुशंसा जारी है। इस बीच स्कूल-कॉलेज और कोचिंग सेंटर (coachiing center) खोलने के लिए भी मंत्री समूह का गठन कर दिया गया। माना जा रहा है कि यह मंत्री समूह जल्द ही स्कूल को चरणबद्ध तरीके से खोलने की सिफारिश राज्य सरकार से करेगी।

राज्य सरकार द्वारा अनलॉक की गाइडलाइन (guideline) सभी जिलों को भिजवा दी गई है। यह गाइडलाइन 1 जून से 15 जून तक लागू रहेगी। गाइडलाइन का पालन सभी जिलों को करना होगा। 15 जून के बाद फिर से समीक्षा बैठक कर नई गाइडलाइन तैयार की जाएगी। समीक्षा बैठक के दौरान मंत्री समूह द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh cauhan) के सामने कोरोना संक्रमित जिलों को लेकर एक प्रेजेंटेशन दिया गया। अधिकारियों का कहना है कि 5% से कम संक्रमित जिलों को धीरे-धीरे अनलॉक किया जा सकता है।

Read More: बोले शिवराज – मानसिक संतुलन खो चुके हैं कमलनाथ, ममता बनर्जी पर दी कड़ी प्रतिक्रिया

क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक से पहले कोरोना संक्रमित जिले के सभी मंत्रियों को बैठक में उपस्थित होने के निर्देश दिए गए। इससे पहले आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सभी जिला के संभागीय आयुक्त और कलेक्टरों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक करेंगे। इस बैठक में सभी जिलों में कोरोना मामले को लेकर व्यवस्थित निर्णय लिया जाएगा।

हालांकि ऐसे जिले जहां संक्रमण दर 5% से अधिक है ऐसे जिलों को किसी भी तरह की रियायत दिए जाने के मूड में राज्य सरकार नजर नहीं आ रही है। राजधानी भोपाल सहित इंदौर में सख्ती पहले जैसे ही लागू रहेगी। जिसको लेकर 31 मई को बैठक में अंतिम निर्णय लिया जाएगा और 1 दिन से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। अनलॉक प्रक्रिया में सरकारी दफ्तरों को खोला जाएगा। साथ ही व्यवसाय गतिविधियों को भी थोड़ी राहत दी जा सकती है लेकिन होटल और रेस्टोरेंट्स खोलने को लेकर मंत्री समूह द्वारा कहा गया कि ऐसी जगह जहां भीड़ अधिक होती है। ऐसी जगह को फिलहाल बंद रखा जाए। जिससे संक्रमण की चेन को बढ़ने से रोका जा सके।