गणतंत्र दिवस समारोह के लिए गाइडलाइन जारी, छात्र नहीं होंगे स्कूल कार्यक्रम में शामिल, इस तरह रहेगी तैयारी

कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए शारीरिक दूरी, मास्क और सैनिटाइजर का ध्यान रखा जाएगा।

नगरीय निकाय चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट मध्यप्रदेश में गणतंत्र दिवस (Republic Day) को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई है। 26 जनवरी को पूरी गरिमामय तरीके से प्रदेश में गणतंत्र दिवस का आयोजन किया जाएगा। हालांकि कोरोनावायरस की तीसरी लहर को देखते हुए इसकी रूपरेखा तैयार की गई। इस संबंध में समान प्रशासन विभाग द्वारा सभी संभागीय आयुक्त, विभागाध्यक्ष, कलेक्टर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

जारी निर्देश के मुताबिक इस बार 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के उपलक्ष पर MP School 1 से 10वीं तक के बच्चों को स्कूलों में नहीं बुलाया जाएगा। स्कूल में संस्था प्रमुख ध्वजारोहण करेंगे लेकिन 1 से हाईस्कूल तक के बच्चे स्कूल के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। मध्य प्रदेश में 31 जनवरी तक स्कूलों को बंद रखा गया है

सामान्य प्रशासन विभाग ने इस तरह से रूपरेखा तैयार की है। इसके अलावा प्रदेश के सभी सरकारी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा। सभी कार्यक्रम स्थल पर चिकित्सा की व्यवस्था रखी जाएगी। साथ ही कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए शारीरिक दूरी, मास्क और सैनिटाइजर का ध्यान रखा जाएगा।

Read More : जब केन्द्रीय मंत्री की बोलती हुई बंद, निशब्द हो अधिकारियों समेत झाँकने लगे अगल बगल

इसके अलावा राज्य स्तरीय कार्यक्रम भी आयोजित की जाएंगी। जिसमें लाल परेड ग्राउंड पर आयोजित गणतंत्र दिवस कार्यक्रम गरिमा में तरीके से मनाया जाएगा। मुख्य अतिथि परेड की सलामी लेंगे वही पुलिस होमगार्ड भी सशस्त्र बल सहित घुड़सवार इसमें शामिल होगी। झांकियां भी निकाली जाएगी। इस मौके पर जिला स्तर पर मुख्य अतिथि ध्वजारोहण करेंगे और सीएम के संदेश का वाचन करेंगे।

इसके अलावा जिला मुख्यालय में सिर्फ परेड का आयोजन होगा Cotona के मद्देनजर NSS, स्काउट गाइड आदि इस में भाग नहीं लेंगे। वहीं नगर निगम, नगर पंचायत और नगर पालिका में अध्यक्ष द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा। प्रत्येक स्तर पर अधिकारियों को जवाबदेही सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए गए हैं। वहीं शेष नगरीय निकाय में आयुक्त ध्वजारोहण करेंगे। इन सभी कार्यक्रमों के बीच करुणा गाइडलाइन का पालन अनिवार्य होगा और इसमें किसी भी तरह की कोताही नहीं बरती जाएगी।