कोरोना: बीते 24 घंटे में मिले 5065 नए मरीज, 88 मौतें, 43 जिलों में 100 से कम केस

हालांकि संक्रमण की रफ्तार कम होने की वजह से प्रदेश के एक्टिव केस की संख्या लगातार घट रही है। मध्यप्रदेश में एक्टिव केस घटकर 77657 रह गए हैं।

मुख्यमंत्री

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में लगे कोरोना कर्फ्यू (corona curfew) ने संक्रमण की चेन को ब्रेक करने का बड़ा काम किया है। प्रदेश में पहली बार बीते 24 घंटे में 72000 सैंपल की जांच में सिर्फ 5065 पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। वही पॉजिटिविटी रेट (positivity rate) घटकर 7% रह गई है। बता दे कि कोरोना कर्फ्यू ने संक्रमण के चेन को तोड़ने का बड़ा काम किया है। जहां एक दूसरे के संपर्क में ना आने से लोग संक्रमित नहीं हुए हैं। वही कंटेनमेंट जोन (containment zone) में कड़ाई की वजह से संक्रमित मरीज की रिकवरी तेजी से हुई है।

बीते 24 घंटे में मध्यप्रदेश में जहां 5065 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। वही मौतों का आंकड़ा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। कोरोना से मरने वाले की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। प्रदेश में अब तक 7227 मौतें दर्ज की जा चुकी है। वही बुधवार को भी मध्यप्रदेश में 88 मौतें रिकॉर्ड की गई है।

Read More: MPPSC: आयोग ने जारी किया नोटिफिकेशन, 727 पदों के लिए इस दिन होगा इंटरव्यू, ये होंगे नियम

हालांकि संक्रमण की रफ्तार कम होने की वजह से प्रदेश के एक्टिव केस की संख्या लगातार घट रही है। मध्यप्रदेश में एक्टिव केस घटकर 77657 रह गए हैं। वही संक्रमित मरीजों की बात की जाए तो राजधानी भोपाल में 24 घंटे में की गई है जबकि आर्थिक राजधानी इंदौर ग्वालियर जबलपुर की पुष्टि हुई है। बीते 24 घंटे में सबसे ज्यादा मौत राजधानी भोपाल में 9 रिकॉर्ड की गई है।

इंदौर में 7 और जबलपुर-ग्वालियर में पांच-पांच लोग कोरोना से अपनी जिंदगी की जंग हार गए हैं। हालांकि प्रदेश के 52 में से 43 जिले ऐसे हैं। जहां 100 से भी कम के सामने आए हैं। वही भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर के अलावा सागर, रीवा, रतलाम, उज्जैन और सिंगरौली में 200 से अधिक मरीजों के संक्रमित होने की रिपोर्ट सामने आई है। इधर बैठक करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संक्रमित इलाकों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश प्रभारियों को दिए हैं। सीएम शिवराज ने एरिया स्पेसिफिक को टारगेट बनाने की बात कही है।