Dewas Bribe News: उज्जैन लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई, राजस्व निरीक्षक 9 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार

लोकायुक्त ने राजस्व निरीक्षक धुर्वे को रकम की राशि के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

देवास, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) में लोकायुक्त (lokayukt) ने एक बार फिर से बड़ी कार्रवाई की है। दरअसल सीएम शिवराज (CM Shivraj) के लगातार निर्देश देने के बाद भी अधिकारी कर्मचारी भ्रष्टाचार (Corruption) करने से बाज नहीं आ रहे हैं। इसी बीच उज्जैन लोकायुक्त (ujjain lokayukt) ने आज देवास जिले में बड़ी कार्रवाई की है। जहां राजस्व निरीक्षक (RI) को 9 हजार रूपए की रिश्वत (dewas bribe) लेते गिरफ्तार किया गया है। दरअसल राजस्व निरीक्षक द्वारा जमीन सीमांकन के लिए किसान से 20 हजार रूपए रिश्वत की मांग की गई थी।

जानकारी की माने तो देवास जिले के सतवास तहसील के बड़ौदा गांव के रहने वाले सतनारायण गुर्जर की 9 बीघा जमीन है। इसके लिए उन्होंने जमीन सीमांकन को लेकर लोक सेवा केंद्र में आवेदन किया था। हालांकि प्रकरण तहसील कार्यालय में राजस्व निरीक्षक के पास पहुंचा। RI ने राजेंद्र धुर्वे ने इस मामले में उनसे सीमांकन के लिए 20 हजार रूपए रिश्वत की मांग कर दी।

Read More : MP Teacher Appointment: शुरू हुई रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया, इनका होगा सत्यापन, जाने नई अपडेट

पीड़ित किसान द्वारा उन्हें 11 हजार रूपए उपलब्ध कराए गए। राजस्व निरीक्षक धुर्वे जमीन सीमांकन करने पहुंचे थे लेकिन नक्शे में गड़बड़ी बताकर सीमांकन नहीं किया गया और 9 हजार रूपए की रिश्वत की मांग की गई। इसकी शिकायत किसान ने 1 जून को उज्जैन लोकायुक्त को की थी।

वहीं शुक्रवार को लोकायुक्त ने राजस्व निरीक्षक को ट्रैप करने के लिए एक प्लान तैयार किया। जिसके तहत पीड़ित किसान को 9 हजार रूपए की राशि देकर राजस्व निरीक्षक के शासकीय आवास पर भेजा गया। वही किसान जैसे ही शासकीय आवासों पर पहुंचा और आरआई को रिश्वत की राशि थमाई। लोकायुक्त ने राजस्व निरीक्षक धुर्वे को रकम की राशि के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।