Electricity : मध्यप्रदेश में शुरू होने जा रही है बड़ी व्यवस्था, बिजली व्यवस्था होगी मजबूत

प्रथम चरण का कार्य पूरा हो गया है।

ऊर्जा मंत्री

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में बिजली (Electricity) की व्यवस्था में सुधार करने के लिए शिवराज सरकार (shivraj Government) ने बड़े कदम उठाए हैं। दरअसल प्रदेश में खरीदी जा रही विद्युत सामग्री की देखभाल के लिए अब प्रदेश में लैब (lab) की स्थापना की जाएगी। इन लैबों का काम बिजली उपकरणों की गुणवत्ता की जांच करना होगा। वहीं प्रदेश में स्थापित लैब एनएबीएल (NABL) मान्यता प्राप्त होंगे। प्रदेश की तीनों विद्युत वितरण कंपनियों में खरीदी जा रही विद्युत सामग्री जैसे ट्रांसफार्मर, कंडक्टर, केबिल, बिजली मीटर की गुणवत्ता की जाँच अब समय पर हो सकेगी।

तीनों विद्युत वितरण कंपनियों के सभी क्षेत्रीय भंडारों में यह लेब स्थापित की जा रही हैं। मध्य क्षेत्र में भोपाल, गुना एवं ग्वालियर, पूर्व क्षेत्र में जबलपुर, सागर, सतना, छिंदवाड़ा, छतरपुर और पश्चिम क्षेत्र में इंदौर तथा उज्जैन में लेब स्थापित की जा रही है।

बता दें कि मध्य प्रदेश में बीते दिनों लगातार बिजली कटौती की समस्या से जनता को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। वहीं प्रदेश के कई हिस्सों में लगातार हो रही बिजली कटौती को लेकर कई बीजेपी विधायक भी मुखर हुए थे। इसके लिए कई बीजेपी विधायक ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर प्रदेश में हो रहे बिजली कटौती के त्वरित निराकरण की मांग की थी।

इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विद्युत विभाग के मंत्री को मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए थे। वहीं सीएम शिवराज ने कहा था कि प्रदेश में विद्युत वितरण में कार्य में आ रही समस्या को ध्यान में रखते हुए लैब की स्थापना की जाएगी। जिससे विद्युत संयंत्र की लगातार जांच से प्रदेश में बिजली कटौती जैसे समस्या से राहत मिलेगी।