देश में मिसाल बने जबलपुर का वन्यजीव फॉरेंसिक एंड हेल्थसेंटर : वन मंत्री

जबलपुर पहुंचे वन मंत्री विजय शाह ने गुरुवार को नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विश्वविद्यायल का निरीक्षण किया।

जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना संक्रमण (Corona Virus) के बीच मध्यप्रदेश के वन मंत्री विजय शाह (Forest Minister Vijay Shah) अचानक जबलपुर पहुंचे। जहां उन्होंने नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विश्वविद्यायल (Nanaji Deshmukh Veterinary University) का निरीक्षण किया। इस दौरान वन मंत्री ने कहा कि हमारे यहां वन्य जीवों के इलाज के लिए ऐसी व्यवस्था की जानी चाहिए। जो कि प्रदेश ही नहीं बल्कि देश में भी वन्यजीव फॉरेंसिक एंड हेल्थसेंटर ( Wildlife Forensics and HealthCenter) की मिसाल हो।

यह भी पढ़ें:-MP Unlock पर मंत्री समूह की बैठक संपन्न, इनको खोलने पर बनी सहमति, ये सेवाएं रहेगी बंद

वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने वन विभाग के अधिकारी और चिकित्सकों से अपील की है कि वह लोग वन्य जीवों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराएं। इसके लिए विश्वविद्यायल प्रबंधन को प्रयास भी करने चाहिए। वन मंत्री विजय शाह ने वेटरनरी विवि के वन्य जीव फॉरेसिंक एंड हेल्थ सेंटर एसडब्ल्यूएफएच के निरीक्षण भी किया। इस दौरान उन्होंने जरूरी दिश-निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें:-विधायक “कवि” ने नाम लिए बिना साधा सिंधिया पर निशाना, इशारों में कही बड़ी बात

वन मंत्री विजय शाह बुधवार को अचानक जबलपुर पहुंचे थे। अपने प्रवास के दौरान उन्होंने वीयू जाने का मन बनाया। वन मंत्री विधायक अशोक रोहाणी के साथ विश्वविद्यालय पहुंचे। कुलपति प्रो. एसपी तिवारी की उपस्थिति में भ्रमण के दौरान मंत्री ने सेंटर में चल रही परियोजनाओं और शैक्षणिक गतिविधियों का ब्यौरा लेते हुए वैज्ञानिक गतिविधियों का निरीक्षण किया। इस दौरान वाईल्ड लाईफ एनॉटॉमी एवं टेक्सीडर्मी म्यूजियम, वाईल्डलाईफ हैल्थ डिविजन, ऑपरेशन थियेटर, वाईल्डलाईफ फॉरेंसिक एवं डॉयग्नॉस्टिक डिविजन आदि की जानकारी के साथ ही अनुसंधानिक एवं वन्यजीवों में विभिन्न प्रकार के रोग परीक्षण संबंधी जानकारी हासिल की, वन मंत्री के साथ सीसीएफ. महेला, जिला वनमण्डलाधिकारी अंजना तिर्की भी मौजूद रहीं।