कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, वेतन में हुई 8% की वृद्धि, मिलेगा ओवरटाइम भत्ता, जुलाई से बढ़कर आएगी राशि

एक बार फिर से कर्मचारियों के वेतन में 8 फीसद की वृद्धि की घोषणा की गई है। कर्मचारियों के लिए ओवरटाइम भत्ता (overtime allowance) को भी बहाल कर दिया गया है।

cpcss

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ जहां देशभर के शासकीय कर्मचारियों (Government Employees) को सरकार द्वारा बड़ा फायदा दिया जा रहा है। वही अब देश की सबसे बड़ी एयरलाइंस इंडिगो द्वारा भी अपने कर्मचारियों (Employees) के वेतन में 8 फीसद (salary hike) की बढ़ोतरी की गई है। इतना ही नहीं कर्मचारियों के लिए ओवरटाइम भत्ता (overtime allowance) को भी बहाल कर दिया गया है। वही जानकारी की माने तो विमान के उपयोग को बढ़ाने के लिए कंपनी पायलट के लिए एक कार्य पैटर्न बहाल करने की भी तैयारी कर रही है। जिससे पायलटों को अधिक कमाई के साथ-साथ कम छुट्टी का लाभ मिलेगा।

इसके साथ ही एयरलाइंस 31 जुलाई से एयरलाइन ने 31 जुलाई से पायलटों के लिए लेओवर और डेडहेड भत्ते भी बहाल करेगी। हालांकि इससे पहले इंडिगो ने अप्रैल 2022 में पायलटों के वेतन में 8 फीसद की वृद्धि की थी। बता दे इंडिगो ने 2020 में 28 फीसद वेतन कटौती की शुरुआत की थी। हालांकि अप्रैल में इस वृद्धि से कर्मचारियों को थोड़ी राहत मिली थी। जब कर्मचारी के वेतन में आठ फीसद क़ि वृद्धि हुई थी। वही एक बार फिर से कर्मचारियों के वेतन में 8 फीसद की वृद्धि की घोषणा की गई है। वैसे पायलट वेतन वृद्धि से संतुष्ट नहीं है।

Read More : रिटायर्ड सरकारी कर्मचारियों को लगा बड़ा झटका, जून की पेंशन अटकी, इस महीने नहीं मिलेगा लाभ!

मामले में एक वरिष्ठ कमांडर का कहना है कि एयरलाइंस के अन्य विभाग के कर्मचारियों को पूरा वेतन बहाल किया गया है। अधिकारी का कहना है कि पूर्व को रोना स्तर से लिपट कर सामने आने के बाद कंपनी ने ड्यूटी के घंटों में काफी वृद्धि की थी। जिसके बाद कर्मचारियों को पूरे वेतन देने का फैसला लिया गया है।

बता दें कि इससे पहले स्पाइसजेट ने भी अपने कप्तान और फर्स्ट लेवल अधिकारियों के वेतन में 10 से 15 फीसद वेतन की वृद्धि की थी। इतना ही नहीं एयर इंडिया ने भी अपने कर्मचारियों के वेतन में 75 फ़ीसदी कटौती की थी हालांकि कोरोना से उबरने के बाद और टाटा समूह के हाथ में आने के बाद एयर इंडिया ने अपने एयरलाइन को विस्तार करने के लिए पायलटों के वेतन और उड़ान भत्ते को फिर से बहाल कर दिया था।

वेतन वृद्धि की आंशिक बहाली के बावजूद, पायलट असंतुष्ट हैं क्योंकि इंडिगो वर्तमान में प्रति दिन 1,600 से अधिक उड़ानों का संचालन कर रहा है, जो कि कोरोना ग्राउंड यात्रा से पहले संचालित की तुलना में अधिक है। इससे पहले एयरलाइन के कई वरिष्ठ पायलटों को कंपनी के अवकाश योजनाकार से ईमेल प्राप्त हुए थे, जिसमें उन्हें दो विकल्पों में से चुनने के लिए कहा गया था।

जिनमें से प्रत्येक में वेतन कटौती शामिल थी। एक में 42 वार्षिक छुट्टियों के साथ वेतन संरचना शामिल है और दूसरे में पायलटों को हर महीने एक सप्ताह की छुट्टी लेनी होगी। उनके पास एक पैकेज हुआ करता था जिसमें 22 दिनों का वार्षिक अवकाश शामिल होता था।