ग्रेंडमास्टर प्रज्ञानानंद ने रचा इतिहास, Julius Baer Challengers Chess Tour का ख़िताब किया अपने नाम

भारतीय खेल प्राधिकरण ने रमेशबाबू प्रज्ञानानंद  को उनकी उपलब्धि पर उन्हें बधाई दी है। SAI ने ट्वीट करते हुए लिखा - बहुत बहुत बधाई चैम्पियन ... 

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।  भारत के 16 वर्षीय ग्रेंडमास्टर (GM) और विश्व शतरंज इतिहास के सबसे छोटे इंटरनेशनल मास्टर (IM ) रमेशबाबू प्रज्ञानानंद (Indian Grandmaster Rameshbabu Praggnanandhaa) ने जूलियस बेयर चैलेंजर शतरंज टूर फाइनल (Julius Baer Challengers Chess Tour Fanals)जीतकर इतिहास रच दिया। रमेशबाबू  प्रज्ञानानंद USA के क्रिस्टोफर यू को हराकर ये ख़िताब अपने नाम किया है।

अपने खेल से दुनिया के शतरंज प्रेमियों को चौकाने वाले रमेशबाबू प्रज्ञानानंद ने पिछले दो मैचों की तरह चार गेम के रैपिड मुकाबलों में एक गेम के साथ शानदार जीत हासिल की। प्रज्ञानानंद ने नौ मैचों में शानदार 8.5 का स्कोर बनाया।

ये भी पढ़ें – CBSE Board Exam 2021: 10वीं-12वीं की परीक्षा की फेक डेटशीट वायरल, बोर्ड का खुलासा

जूलियस बेयर चैलेंजर शतरंज टूर फाइनल जीतकर रमेशबाबू प्रज्ञानानंद के केवल 12,500 डॉलर की इनामी राशि ही नहीं जीती बल्कि 2022 में मिलियन डॉलर मेल्टवाटर चैम्पियन टूर में शतरंज की दुनिया के दिग्गजों के साथ खेलने का अधिकार भी प्राप्त किया है।

ये भी पढ़ें – राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा : छात्रों के लिए स्कॉलरशिप हासिल करने का खास मौका

भारतीय खेल प्राधिकरण ने रमेशबाबू प्रज्ञानानंद  को उनकी उपलब्धि पर उन्हें बधाई दी है। SAI ने ट्वीट करते हुए लिखा – बहुत बहुत बधाई चैम्पियन …