मुंबई में भारी बारिश का रेड अलर्ट, दिल्ली सहित 15 राज्यों में 10 जुलाई तक बौछार पड़ने की संभावना, जाने आईएमडी का पूर्वानुमान

अगले 48 घंटे के दौरान मुंबई में भरी बारिश के अलावा पंजाब हरियाणा, एमपी, चंडीगढ़ दिल्ली और राजस्थान में गरज चमक के साथ छिटपुट बारिश के साथ भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ जहां देश में इस बार मानसून (Monsoon) सामान्य है। वही दूसरी तरक देश में कई सिस्टम एक्टिव (System active) होने की वजह से कई राज्यों में बारिश (IMD rain alert)  और बौछारें पड़ने का सिलसिला शुरू होगा। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग द्वारा एक कम दबाव का क्षेत्र निर्मित होने की जानकारी दी गई है। जिससे मध्य गुजरात क्षेत्र और Mumbai के क्षेत्रों में भारी बारिश का अलर्ट (Mumbai rains) जारी कर दिया गया है। इसके अलावा भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने तटीय महाराष्ट्र और पूरे पश्चिमी तट पर मजबूत मानसून स्थिति की भविष्यवाणी की है। जिसके बाद इन राज्यों में 5 दिनों तक लगातार भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम एजेंसी की माने तो मानसून ट्रफ सक्रिय है और अपने सामान्य स्थिति में है। जिसके बाद इसके दक्षिण में मजबूत होने की स्थिति जताई गई है। इसके अलावा एक चक्रवाती तूफान का क्षेत्र बंगाल के उत्तर-पश्चिमी खाड़ी और आसपास के इलाकों में बना हुआ है। जिसके कारण अगले कुछ दिनों तक राजस्थान गुजरात मध्यप्रदेश में बारिश की चेतावनी जारी की गई है। मौसम में पहली बार महाराष्ट्र में बारिश को सामान्य माना गया था लेकिन इस बार महाराष्ट्र में मानसून की स्थिति अच्छी हो गई है। 1 जून से अब तक 227.9 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है।

मौसम विभाग की जानकारी के मुताबिक बारिश और आंधी का पूर्व अनुमान और चेतावनी जारी की गई है। दरअसल विक्षोभ मंडल स्तर में पश्चिमी तट के साथ तेज पछुआ हवा चलने से कुछ राज्य में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम अलर्ट की मानें तो अगले 48 घंटे के दौरान पंजाब हरियाणा चंडीगढ़ दिल्ली और राजस्थान में गरज चमक के साथ छिटपुट बारिश के साथ भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में अगले 5 दिनों के दौरान छिटपुट बारिश देखने को मिल सकती है।

Read More : इन नियमों के तहत होगी अनुकंपा नियुक्ति, विभाग ने जारी किया आदेश, आश्रितों को मिलेगा लाभ, जाने प्रमुख बदलाव

इस सप्ताह वर्षा की भविष्यवाणी

अगले कुछ दिनों में राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश में भी बारिश बढ़ेगी। इस मौसम में पहली बार महाराष्ट्र में बारिश को “सामान्य” माना गया था। राज्य में 1 जून से अब तक 227.9 मिमी बारिश हुई है। आंकड़े बताते हैं कि यह 5 जुलाई तक राज्य के मौसमी सामान्य से 12% कम है, हालांकि आईएमडी इस कमी को सामान्य बारिश मानता है।

मध्य प्रदेश के मध्य जिले में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। अंत में, अरब सागर से महाराष्ट्र होते हुए तेज़ पछुआ हवाएँ आ रही हैं। ये हवाएँ एक अपतटीय ट्रफ़ के कारण होती हैं जो गुजरात और महाराष्ट्र के बीच चलती है, मानसून ट्रफ़, जो अब अपने विशिष्ट स्थान से नीचे चल रही है। आईएमडी के हालिया मौसम पूर्वानुमानों के अनुसार, कोंकण और मध्य महाराष्ट्र 8 जुलाई तक ‘रेड’ अलर्ट पर रहेंगे।

आईएमडी के अनुसार, कोंकण और मध्य महाराष्ट्र क्षेत्र शुक्रवार तक ‘रेड’ अलर्ट पर हैं, जबकि ‘ऑरेंज’ चेतावनी शनिवार से लागू है। बुधवार को, गोवा, तटीय कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के लिए भी “ऑरेंज” अलर्ट प्रभावी हैं। राजस्थान, गुजरात, कोंकण, मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ और ओडिशा राज्यों को 9 जुलाई की चेतावनी मिली है।

6 से 12 जुलाई तक पंजाब हरियाणा चंडीगढ़ दिल्ली और राजस्थान जारी किया गया। इसके अलावा 9 से 12 जुलाई तक गुजरात कोकण गोवा मध्य प्रदेश महाराष्ट्र मराठवाड़ा छत्तीसगढ़ और उड़ीसा में गरज चमक के साथ बौछार पड़ने का अलर्ट जारी किया गया है। इतना ही नहीं 9 और 10 जुलाई को तेलंगना में जबकि 6 जुलाई से लेकर 13 जुलाई तक मराठवाड़ा में छिटपुट बारिश की संभावना जताई गई है। 8 से 10 जुलाई तक दक्षिण आंतरिक कर्नाटक केरल और माही में बारिश का अलर्ट जारी किया गया जबकि 6 से लेकर 13 जुलाई तक उड़ीसा पूर्वी मध्य प्रदेश में बारिश का दौर जारी रहेगा।

8 से 12 जुलाई के बीच तटीय आंध्र प्रदेश तमिलनाडु पुडुचेरी कराईकल में छिटपुट मध्यम या भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा गुजरात क्षेत्र में 6, 7, 9, 10, 12 जुलाई को जबकि सौराष्ट्र और कक्ष में 6 से 12 जुलाई के बीच भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

6 जुलाई से 10 जुलाई तक हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड सहित पश्चिम राजस्थान और नई दिल्ली में गरज चमक के साथ बौछार पड़ने की संभावना जताई गई है। पूर्वी राजस्थान में 7 से 9 जुलाई के दौरान छिटपुट बारिश के साथ बहुत बारिश देखने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है जबकि 8 जुलाई को दक्षिणी गुजरात और मध्य महाराष्ट्र के घाट क्षेत्र सहित सौराष्ट्र और कच्छ में 12 जुलाई को भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

इधर बिहार झारखंड पश्चिम बंगाल सहित उत्तर प्रदेश में मंगलवार 12 जुलाई के बाद मौसम में बदलाव की संभावना देखने को मिल सकती है। हालांकि फिलहाल बिहार झारखंड में मौसम की बात करें तो आसमान में बादल छाए हुए हैं। हल्की हवा जारी है। वहीं कहीं कहीं बारिश देखने को मिल रही है।