ऑक्सीजन के लिए मॉडल बना खंडवा, कलेक्टर की राष्ट्रीय स्तर पर हो रही तारीफ

इंदौर संभागायुक्त ने कोविड-19 नियंत्रण के संबंध में समीक्षा बैठक ली। उन्होंने कहा कि खंडवा में ऑक्सीजन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर जिला कलेक्टर की प्रशंसा हो रही है।

खंडवा, सुशील विधानी। इंदौर संभागायुक्त पवन कुमार शर्मा (Indore Divisional Commissioner Pawan Kumar Sharma) ने कोरोना की समीक्षा में कहा कि इंदौर संभाग में कोविड के प्रकरणों में कमी आई है। खंडवा जिला पूरे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मॉडल के रूप में उभरा है। जिले में कलेक्टर अनय द्विवेदी (Collector Anay Dwivedi) द्वारा जो नवाचार किया गया है, ऑक्सीजन (Oxygen) के लिए आज पूरा देश उसे अपना रहा है। ऑक्सीजन के लिए भी खंडवा आत्मनिर्भर बन गया है।

यह भी पढ़ें:-तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयार अशोकनगर, विधायक जज्जी निजी तौर पर कर रहे हर व्यवस्था

इंदौर संभागायुक्त पवन कुमार शर्मा की अध्यक्षता में शुक्रवार मेडिकल कॉलेज के सभाकक्ष में कोविड-19 के रोकथाम एवं बचाव के संबंध में समीक्षा बैठक हुई। बैठक में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी अनय द्विवेदी ने जिले में कोरोना पर नियंत्रण स्थापित करने एवं संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए किये जा रहे प्रयासों एवं कार्ययोजनाओं से अवगत कराया। बैठक में इंदौर संभागायुक्त ने कोरोना काल में खंडवा जिला कलेक्टर के कुशल मार्गदर्शन में कार्य कर रही जिला प्रशासन की संपूर्ण टीम की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि यह गौरव की बात है की खंडवा जिला कोरोना नियंत्रण में एक आईडियल के रूप में कार्य कर रहा है। ऑक्सीजन के नए संयंत्र गाए जा रहे हैं।

इंदौर संभागायुक्त पवन कुमार शर्मा ने निर्देशित किया कि जिले में ‘रोको-टोको अभियान’, मास्क की अनिवार्यता एवं दी जा रही छूट के साथ सख्ती से निगरानी की जाये। जिससे जिले में संक्रमण की दर ना बढ़े। इस बैठक में जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी नगर निगम कमिश्नर एसडीएम अपर कलेक्टर और अन्य अधिकारी मौजूद रहे।