जानिये, आखिर क्यों एक दिन भी नहीं खा पाए Indore के पुलिस वाले केले…

देखा जाए तो इसके पीछे एसपी की सोच सकारात्मक थी।

mp police

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) के एसपी (SP) को नवाचार का आदेश एक दिन में ही वापस लेना पड़ा। दरअसल पुलिसकर्मियों (Indore policemen) को फिट रखने के लिए एसपी साहब ने उन्हें सुबह शाम केले खिलाने का आदेश दिया था लेकिन एक दिन में ही यह आदेश वापस लेना पड़ा।

सामाजिक कार्यों और पर्यावरण प्रेम के प्रति जाने-माने पुलिस अधिकारी इंदौर पश्चिम के पुलिस अधीक्षक महेश जैन (SP Mahesh jain) ने 25 अगस्त को अपने अंतर्गत आने वाले समस्त थानों के प्रभारियों को निर्देश दिया था कि वे गणना में उपस्थित होने वाले सभी पुलिसकर्मियों को सुबह और शाम दो-दो केले उपलब्ध कराएं। देखा जाए तो इसके पीछे एसपी की सोच सकारात्मक थी।

Read More: Rules Change: सितंबर से बदल जाएंगे यह महत्वपूर्ण नियम, आम जनता पर पड़ेगा बड़ा असर

दरअसल माना जाता है कि तुरंत एनर्जी देने का सबसे अच्छा स्रोत केला होता है और इसीलिए एसपी साहब ने यह विचार किया कि दिन रात 16-16 घंटे की ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों को कम से कम एक पौष्टिक फल तो ऐसा मिले जिससे उनमें कुछ एनर्जी आए। थाना प्रभारियों को यह भी निर्देश दिया गया था कि वे अपने यहां के थोक फल विक्रेता से केले लेने के लिए संपर्क करें ताकि उन्हें रियायती दर पर केले प्राप्त हो सके।

एसपी के इस नवाचार को न जाने किसकी नजर लग गई और एक दिन बाद ही एसपी साहब को अपना यह आदेश निरस्त करने का आर्डर निकालना पड़ा। जाहिर सी बात है कि सरकारी कामकाज में कुछ अलग हट करने की गुंजाइश बहुत कम होती है और ज्यादातर आला अधिकारी लकीर के फकीर होते हैं। परंपरागत चले आ रहे कामों पर ही विश्वास करते हैं। ऐसे में शायद किसी आला अधिकारी को एसपी साहब का यह काम पसंद नहीं आया और इसीलिए इस आदेश को निरस्त करना पड़ा।

जानिये, आखिर क्यों एक दिन भी नहीं खा पाए Indore के पुलिस वाले केले...