MP: शिक्षक-पटवारी समेत 12 निलंबित, 18 कर्मचारियों को नोटिस, 43 का वेतन काटा, 1 पर जुर्माना

कलेक्टर ने 3 दिवस के भीतर उक्त राशि वसूल कर मद में जमा कर चालान की प्रति कलेक्टर कार्यालय में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है।

mp NEWS

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में  लापरवाही पर कलेक्टरों द्वारा बड़ा एक्शन लिया गया है।  आगर-मालवा में 1 शिक्षक, मंदसौर में 2 अधिकारियों, देवास में 2 सहायक राजस्‍व निरीक्षक, अनूपपुर में 1 पंचायत सचिव, छतरपुर में 3 BLO और 1 पटवारी और बालाघाट में 1 कोटवार और विदिशा में पंचायत सचिव को निलंबित कर दिया गया है। ​वही देवास में 3 सहायक राजस्व निरीक्षकों, छतरपुर में 10 BLO और मुरैना में 2 CMO, 1 DFO और जिला आबकारी अधिकारी, भिंड में प्राचार्य को नोटिस जारी किया गया है। इसके अलावा सीहोर में जनपद CEO पर जुर्माना, बड़वानी में 41 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का 3 दिन और मुरैना में 2 अधिकारियों का 2 दिन का वेतन काटने की कार्रवाई की गई है।

यह भी पढ़े.. MP School: अब निजी स्कूलों में लगेगी पूरी फीस, स्कूल खोलने को लेकर ये आदेश जारी

आगर-मालवा कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अवधेश शर्मा ने निर्वाचन कार्य में लापरवाही एवं उदासीनता बरतने पर माध्यमिक शिक्षक अंतिम खंदार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि में शिक्षक का मुख्यालय जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय आगर होगा तथा नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी। ​21 नवम्बर को डिप्टी कमिश्नर उज्जैन संभाग उज्जैन एवं निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी द्वारा मतदान केन्द्रों का औचक निरीक्षण के दौरान BLO सुपरवाईजर, प्रभार दिए गए 15 मतदान केन्द्रों पर अनुपस्थित पाए गए तथा दूरभाष पर संपर्क करने पर संतोषप्रद जवाब नहीं दिया गया, जिसके बाद कलेक्टर ने म.प्र. सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 9(1)(क) के अन्तर्गत शिक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

मन्दसौर कलेक्टर गौतम सिंह ने शासकीय  काम में लापरवाही बरतने पर महिमानन्दन शर्मा (MPS) एवं नवीन कुमार सेठिया (MPW) को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया । महिमानन्दन शर्मा (MPS) एवं नवीन कुमार सेठिया (एMPW) को म.प्र. सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 9 के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है। निलम्बन अवधि में शर्मा का मुख्यालय सा.स्वा.के. सीतामऊ एवं सेठिया का मुख्यालय सा.स्वा.के. सुवासरा रहेगा। निलंबन अवधि में इन्हें जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।

यह भी पढ़े.. मप्र पंचायत चुनाव: आयुक्त ने कलेक्टरों को दिए ये निर्देश, 25 नवंबर तक भेजें जानकारी

इसके अलावा अनुपपुर में सरकारी अभियान में ग्राम पंचायत लखौरा की प्रगति शून्य पाए जाने पर ग्राम पंचायत लखौरा के सचिव दिनेश कुमार वनवासी को निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति न करने व अपने पदीय दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही बरतने पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हर्षल पंचोली ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि में वनवासी का जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा, इनका मुख्यालय जनपद पंचायत पुष्पराजगढ निर्धारित किया गया है। ग्राम पंचायत लखौरा के ग्राम रोजगार सहायक विजय सिंह को ग्राम पंचायत लखौरा जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ का समस्त सचिवीय प्रभार अग्रिम आदेश तक अस्थायी रूप से सौंपा गया है।

2 सहायक राजस्‍व निरीक्षक निलंबित, 3 को नोटिस

देवास कलेक्‍टर चन्‍द्रमौली शुक्‍ला ने सहायक राजस्‍व निरीक्षक नगर पालिका निगम देवास हेमंत धुरिया एवं सहायक राजस्‍व निरीक्षक नगर पालिका निगम देवास दिलीप पंवार को निर्वाचन कार्य में की गई लापरवाही एवं उदासीनता के कारण तत्‍काल प्रभाव से निलंबित किया है। निलम्‍बन की अवधि में हेमंत धुरिया एवं दिलीप पंवार का मुख्‍यालय जिला शहरी विकास अभिकरण कार्यालय देवास रहेगा तथा नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्‍ते की पात्रता रहेगी।इसके अलावा कलेक्‍टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी चन्‍द्रमौली शुक्‍ला ने सहायक अध्‍यापक पंकज शुक्‍ला, सहायक शिक्षक जोगेन्‍द्र सिंह भदोरिया और सहायक ग्रेड-3 नगर पालिका निगम सतीश शर्मा को निर्वाचन कार्य में की गई लापरवाही एवं उदासीनता के‍ लिए कारण बताओं नोटिस जारी किया। संबंधित कर्मचारी से नोटिस का उत्‍तर 03 दिवस में मांगा गया है। निर्धारित समयावधि में संतोषजनक उत्‍तर प्राप्‍त नहीं होने पर इन कर्मचारियों के विरूद्ध अनुशासनात्‍मक कार्यवाही करते हुए निलंबित किया जायेगा।

​3 BLO और 1 पटवारी निलंबित, 10 को कारण बताओ नोटिस

छतरपुर कलेक्टर छतरपुर शीलेन्द्र सिंह द्वारा रविवार को नगरपालिका महाराजपुर में गढ़ीमलहरा एवं महाराजपुर के समस्त बीएलओ की बैठक में टीकाकरण जैसे महत्वपूर्ण कार्य में लापरवाही बरतने एवं गलत जानकारी देने पर 3 BLO को निलंबित एवं 10 BLO को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। वही अनुविभागीय अधिकारी बड़ामलहरा विकास कुमान आनंद ने बताया कि पटवारी हल्का सोरखी लक्ष्मीकान्त कोरी को भू-अभिलेख शुद्धिकरण पखवाड़ा कार्य में लापरवाही बतरने पर निलंबित कर दिया गया है। इनको पूर्व में भी लापरवाही बरतने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। मुख्यालय से अनुपस्थित रहने एवं वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों की अव्हेलना करने एवं बार बार हिदायत देने पर भी हल्कान्तर्गत भू-अभिलेख शुद्धिकरण का कार्य न करने से आपके हल्का की प्रगति रिपोर्ट शून्य है।निलंबन काल में इनका मुख्यालय तहसील कार्यालय घुवारा नियत किया जाता है।

जनपद सीईओ पर जुर्माना

सागर कलेक्टर दीपक आर्य ने निर्धारित समय-सीमा में सेवाएं न देने पर म.प्र. लोक सेवाओं के प्रदाय की गारंटी अधिनियम-2010 के तहत जिले के बण्डा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुरेन्द्र खरे पर 250 रूपये का अर्थदण्ड लगाया है। कलेक्टर द्वारा उक्त अर्थदण्ड सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण विभाग की राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना के प्रदाय करने के एक प्रकरण का समय-सीमा में निराकरण नहीं करने पर 250 रूपये का लगाया गया है। कलेक्टर ने 3 दिवस के भीतर उक्त राशि वसूल कर मद में जमा कर चालान की प्रति कलेक्टर कार्यालय में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है।

कोटवार और पंचायत निलंबित, प्राचार्य को नोटिस

बालाघाट में महा अभियान के दौरान अनुविभागीय अधिकारी बालाघाट द्वारा में ग्राम भरवेली का भ्रमण के दौरान ग्राम कोटवार ग्राम में अनुपस्थित पाया गया । ग्राम कोटवार द्वारा सरकारी कार्यक्रम की सूचना और मुनादी ग्राम में नहीं की गई जिससे  कार्य प्रभावित हुआ । ग्राम कोटवार द्वारा शासकीय कार्य में सहयोग नहीं करने व लापरवाही बरतने के कारण ग्राम कोटवार को तत्‍काल प्रभाव से निलंबित किया गया है ।भिण्ड कलेक्टर (Bhind Collctor) डॉ सतीष कुमार एस ने शासकीय महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ ओपी चक को कारण बताओ नोटिस जारी कर दो दिवस के अन्दर जवाब चाहा है।समयावधि में जवाब प्राप्त न होने की दिशा में एक पक्षीय कार्यवाही करते हुए अनुशासनात्मक कार्यवाही प्रस्तावित की जावेगी।इसके अलावा विदिशा जिला पंचायत CEO डॉ योगेश भरसट ने शासकीय कार्यो में लापरवाही बरतने पर ग्राम पंचायत मोहम्मदगढ के सचिव नर्वदा प्रसाद श्रीवास्तव को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया है।

​41 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का काटा गया 3 दिवस का वेतन

बड़वानी में परियोजना अधिकारी सेंधवा ने 25 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का 3 दिवस का वेतन काटने के आदेश जारी किए हैं। परियोजना अधिकारी सेंधवा राजेश केरावत से प्राप्त जानकारी अनुसार 25 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना वैक्सीन का द्वितीय डोज का लक्ष्य पूरा नहीं करने एवं कार्य में लापरवाही बरतने पर माह नवंबर के वेतन में से 3 दिवस का वेतन काटने का आदेश दिए हैं।वही परियोजना अधिकारी पाटी प्रकाश रंगशाही ने NRC केंद्र पाटी में कुपोषित बच्चों को भर्ती नहीं कराने पर एवं कार्य में लापरवाही करने पर विकासखंड पाटी की 16 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का 3 दिवस का वेतन काटने के आदेश दिए है। साथ ही अन्य आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को चेतावनी भी दी गई है कि यदि वे भी कार्य में लापरवाही प्रदर्शित करेगी तो इसी प्रकार की कार्यवाही उनके विरूद्ध भी की जायेगी।

2 CMO, जिला आबकारी अधिकारी और DFO को नोटिस, 2 का वेतन काटा

मुरैना कलेक्टर (Morena Collctor) बी.कार्तिकेयन ने पीएम स्वनिधि योजना में लापरवाही बरतने पर कैलारस, जौरा CMO को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये है। वही कहा कि दिसम्बर माह में समाधान ऑनलाइन प्रथम सप्ताह में होगी, जिसमें अक्सर ऐसी शिकायतें पहुंचती है, जिन्हें कई अधिकारी अटेंड नहीं करते है। जिसमें जिला खाद्य नियंत्रक अधिकारी भीम सिंह द्वारा पिछले सप्ताह 31 शिकायतों को और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एडी शर्मा द्वारा 25 शिकायतों को अटेंड किये बिना छोड़ दिया। इसके चलते कलेक्टर ने दोनो अधिकारियों का 2 दिन का वेतन काटने संबंधी नोटिस जारी करने के निर्देश दिये है।

यह भी पढ़े.. MP Weather: जल्द बदलेगा मप्र का मौसम, आज 13 जिलों में बारिश के आसार, जानें अपडेट

इसके अलावा कलेक्टर  ने वनमण्डलाधिकारी निकम को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।  अक्सर टीएल बैठक में वनमण्डलाधिकारी की ओर से कोई भी व्यक्ति उपस्थित नहीं होता है। इस कारण विभागीय योजनाओं का निराकरण करने में असुविधा होती है। इस पर कलेक्टर ने DFO को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। वही मुरैना जिला आबकारी अधिकारी सुश्री निधि जैन बिना सूचना के टीएल बैठक से अनुपस्थित रहने पर कलेक्टर  ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। कलेक्टर ने बताया कि जिला आबकारी अधिकारी सुश्री जैन मेरे पूछे बिगर मुख्यालय से बाहर है। मुख्यालय से बाहर जाना मुझसे पूछना उचित नहीं समझा। इस संबंध में अपना लिखित में जबाव प्रस्तुत करें।