मप्र पंचायत चुनाव 2021: आयुक्त ने कलेक्टरों को दिए निर्देश, 25 नवंबर तक भेजें जानकारी

अध्यादेश के अनुसार पूर्ववर्ती परिसीमन निरस्त हो जाने से ग्राम पंचायत,  जनपद पंचायत और जिला पंचायत क्षेत्र का निर्वाचन उस परिसीमन एवं विभाजन के आधार पर किया जाना है।

पंचायत चुनावों

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में पंचायत चुनावों (MP Panchayat Election 2021) की तैयारियां जोरों  पर है। जल्द ही चुनावों की तारीख और आचार संहिता का ऐलान किया जा सकता है।चुनाव से पहले शिवराज सरकार ने कमलनाथ सरकार के फैसले को पलटते हुए नए परिसीमन को निरस्त कर दिया है और इस संबंध में अध्यादेश भी जारी किया जा चुका है।इसी को लेकर राज्य निर्वाचन आयुक्त निर्देश दिए है कि पूर्व परिसीमन एवं उसके बाद किये गये परिसीमन का मिलान कर ऐसी पंचायतों की विकाखण्डवार जानकारी तैयार करें, जिनके क्षेत्र और वार्ड की सीमा में परिवर्तन हुआ है।  यह जानकारी आगामी 25 नवम्बर तक राज्य निर्वाचन आयोग को भिजवाना सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़े.. MP Weather: जल्द बदलेगा मप्र का मौसम, आज 13 जिलों में बारिश के आसार, जानें अपडेट

राज्य निर्वाचन आयुक्त  बसंत प्रताप सिंह (State Election Commissioner Basant Pratap Singh) ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कलेक्टर्स से राज्य शासन (MP Government) द्वारा जारी नवीन अध्यादेश के संबंध में चर्चा की।  अध्यादेश के अनुसार पूर्ववर्ती परिसीमन निरस्त हो जाने से ग्राम पंचायत,  जनपद पंचायत और जिला पंचायत क्षेत्र का निर्वाचन उस परिसीमन एवं विभाजन के आधार पर किया जाना है, जो उनकी संबंधित अवधि की समाप्ति के ठीक पहले विद्यमान थे। ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत और जिला पंचायत क्षेत्र के प्रवर्ग उन्हीं प्रवर्गों के लिये आरक्षित बने रहेंगे, जैसे कि वे उनकी संबंधित अवधि की समाप्ति पर थे। अध्यादेश ऐसी ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत और जिला पंचायत क्षेत्र पर नहीं होगा, जो संबंधित पंचायतों के अंतिम निर्वाचन के बाद किसी नगरीय क्षेत्र में शामिल हो गये हैं।

यह भी पढ़े.. 18 महीने के अटके DA Arrears पर नई अपडेट, 1 करोड़ कर्मचारियों को जल्द मिलेगा लाभ!

सिंह ने कहा कि जिला स्तर पर विकासखण्ड को इकाई मानते हुए यह जानकारी तैयार करें कि कितनी ग्राम पंचायतें नवीन परिसीमन में प्रभावित हुई हैं। नये परिसीमन के दौरान ग्राम पंचायतों की संख्या में कमी और वृद्धि होने अथवा सीमा क्षेत्रों परिवर्तन होने की स्थिति में ऐसी पंचायतों की विकाखण्डवार जानकारी तैयार करें। ग्राम पंचायत के वार्डों का क्षेत्र यदि परिवर्तित हुआ, तो इसकी जानकारी भी तैयार करें। उन्होंने कहा कि पूर्व परिसीमन को आधार मानते हुए, जिला पंचायत एवं जनपद पंचायत निर्वाचन क्षेत्रों में शामिल ग्राम पंचायतों की स्थिति अनुसार इन निर्वाचन क्षेत्रों का निर्धारण करें।

कार्ययोजना तैयार कर जल्द सौंपे

आगामी पंचायत चुनाव 2020-21 की तैयारियों को लेकर अनूपपुर कलेक्टर (Anuppur Collector) एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय) सुश्री सोनिया मीना की अध्यक्षता में विभिन्न निर्वाचन कार्यक्रमों को निष्पादित किए जाने वाले नोडल अधिकारियों की बैठक में सभी अधिकारियों को प्रो-एक्टिव होकर कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रबंधन से जुड़े सभी अधिकारियों को विस्तारपूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त हो ताकि वह अपने दायित्वों का कुशलतापूर्वक निर्वहन कर सकें। उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों एवं सहायक नोडल अधिकारियों को कार्ययोजना तैयार कर सौंपे गए दायित्वों का निर्वहन करने के निर्देश दिए।

कम वोटिंग प्रतिशत वाले क्षेत्र को चिन्हित करें

कलेक्टर ने रिटर्निंग ऑफीसर एवं सहायक रिटर्निंग ऑफीसरों को चुनाव कार्य के लिए निर्देशों का अध्ययन कर बिन्दुवार कार्यों की व्यक्तिगत पर्यवेक्षण के निर्देश दिए। चुनाव सामग्री प्रबंधन, प्रशिक्षण प्रबंधन, परिवहन प्रबंधन, आदर्ष आचरण संहिता का पालन व बैलेट पेपर, डमी बैलेट तथा स्ट्रांग रूम प्रबंधन, सामग्री वितरण, रूट चार्ट, सीसीटीव्ही वेबकास्ट की सभी आवश्यक तैयारियों में जुटने के निर्देश नोडल अधिकारियों को दिए। जिले के विभिन्न स्थानों के साथ ही पिछले चुनावों में कम वोटिंग प्रतिशत वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर ईव्हीएम का प्रचार-प्रसार तथा अधिक से अधिक मतदान के लिए मतदाता जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए।