मूंग की खरीदी से पहले सामने आया कृषि मंत्री कमल पटेल का बड़ा बयान

कमल पटेल ने कहा कि इस वर्ष मूँग की फसल की स्थिति अच्छी होने से औसत फसल उत्पादकता 15 क्विंटल प्राप्त हो रही है।

कृषि मंत्री कमल पटेल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में 15 जून से समर्थन मूल्य (MSP) पर मूंग (Mung bean) की खरीदी की जाएगी और इसके लिए 8 जून से पंजीयन शुरु हो जाएगा। इससे पहले कृषि मंत्री कमल पटेल ( MP Agriculture Minister Kamal Patel) का बड़ा बयान सामने आया है।कमल पटेल ने कहा कि होशंगाबाद जिले में ग्रीष्मकालीन मूँग का रकबा लगातार बढ़ता जा रहा है, जो कि पिछले 5 वर्षो में 70 हजार हेक्टर से बढ़कर 2 लाख 8 हजार हेक्टर तक पहुँच गया है।

यह भी पढ़े.. शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान- मप्र में रोजगार के बढ़ाए जाएँगे अवसर

कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि  जिले में ग्रीष्म-कालीन मूँग  (Mung Bean) फसल के लिए अनुकूल परिस्थितियों और मूँग की खेती से किसानों को लगातार लाभ मिलने के कारण किसानों का रूझान ग्रीष्म-कालीन मूँग की फसल में बढ़ा है। किसानों के बढ़ते रुझान के कारण ही इस वर्ष तवा डेम से किसानों (Farmers) को सिंचाई के लिये निर्बाध पानी की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई। इस वर्ष ग्रीष्मकालीन मूँग 2 लाख 8 हजार हेक्टेयर में बोई गई, जबकि गत वर्ष एक लाख 82 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में बोनी हुई थी।

कमल पटेल ने कहा कि इस वर्ष मूँग की फसल की स्थिति अच्छी होने से औसत फसल उत्पादकता 15 क्विंटल प्राप्त हो रही है। इससे 3.10 लाख मीट्रिक टन फसल उत्पादन प्राप्त होना अनुमानित है, जिससे 60 दिन की फसल से कृषकों को 7196 रूपये प्रति क्विंटल MSP से लगभग 2200 करोड़ की आमदनी होना संभावित है।ग्रीष्मकालीन मूँग की फसल कम समय में अधिक लाभ देने वाली है। इसमें 60 दिन की अवधि में ही फसल तैयार हो जाती है। ग्रीष्मकालीन मूँग कम लागत में अधिक लाभ प्रदाय करने वाली फसल है।

यह भी पढ़े..MP News: 15 जून से होगी समर्थन मूल्य पर मूंग की खरीदी, इस दिन से शुरु होगा पंजीयन

कमल पटेल ने कहा कि होशंगाबाद जिले में गत वर्ष 2020 में एक लाख 82 हजार 200 हेक्टर क्षेत्र में 60 दिन की ग्रीष्म-कालीन मूँग फसल से किसानों को लगभग 1650 करोड़ की अतिरिक्त आय प्राप्त हुई थी। लेकिन इस उपलब्धि से भी अधिक इस वर्ष होशंगाबाद जिले ने ग्रीष्मकालीन मूँग फसल में नया कीर्तिमान स्थापित किया है। वर्ष 2021 में होशंगाबाद जिले ने ग्रीष्मकालीन मूँग फसल उत्पादन में एक नया आयाम स्थापित किया है।इस वर्ष जिले में पूर्व वर्षों के समस्त रिकार्ड को ध्वस्त करते हुये 2 लाख 8 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में मूँग की फसल लगाई गई

कृषि मंत्री पटेल ने कलेक्टर होशंगाबाद (Hoshangabad Collector) धनंजय सिंह द्वारा जिले की किसानों को मूँग फसल की खेती के लिए आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध कराने के लिए किये गये पुख्ता इंतजामों की सराहना की है। ग्रीष्मकाल में तवा नहर से किसानों को सिंचाई के लिये पर्याप्त पानी मिले, इसकी नियमित मॉनिटरिंग की गई। कोरोना संक्रमण काल में लागू कोरोना कर्फ्यू के दौरान भी किसानों को मूँग की बुवाई के लिए समय पर खाद, बीज और कीटनाशक की पर्याप्त उपल्धता बनी रहें। इसकी समुचित व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की गई।

यह भी पढ़े.. शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान- मप्र में रोजगार के बढ़ाए जाएँगे अवसर