कृषि मंत्री का ऐलान- युवाओं को रोजगार के लिये 25 लाख का मिलेगा लोन

कृषि मंत्री ने कहा है कि ग्रामीण युवाओं को अनाज की ग्रेडिंग, क्लीनिंग, ग्रेडिंग प्लांट, दाल मिल, राइस मिल इत्यादि के लिये 25 लाख रुपये का ऋण उपलब्ध कराया जायेगा।

कृषि मंत्री कमल पटेल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के कृषि मंत्री (Minister of Agriculture)  कमल पटेल (Kamal Patel) ने युवाओं को लेकर बड़ा ऐलान किया है। कृषि मंत्री ने कहा है कि ग्रामीण युवाओं को अनाज की ग्रेडिंग, क्लीनिंग, ग्रेडिंग प्लांट, दाल मिल, राइस मिल इत्यादि के लिये 25 लाख रुपये का ऋण उपलब्ध कराया जायेगा। इसमें शासन की ओर से 40 प्रतिशत का अनुदान भी मिलेगा।

यह भी पढ़े.. 8 बीजेपी विधायकों का विधानसभा की स्ठाई समितियों से इस्तीफा, सियासी हलचल तेज

दरअसल, कृषि मंत्री कमल पटेल ने आज गुरुवार को ”मध्यप्रदेश में कस्टम प्रोसेसिंग योजना” का शुभारंभ करते हुए  कहा कि इससे कृषि क्षेत्र में युवाओं को व्यापार और रोजगार के बेहतर अवसर मुहैया होंगे।  मध्यप्रदेश कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र स्थापित करने संबंधी योजना लागू करने वाला पहला राज्य है। प्रदेश में इस वर्ष लगभग 250 कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र स्थापित किये जायेंगे। इसके लिये शीघ्र ही आवेदन आमंत्रित किये जायेंगे।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने  ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा स्थापित “कृषि अधोसंरचनात्मक फण्ड” अंतर्गत कस्टम प्रोसेसिंग योजना के प्रोजेक्ट स्वीकृत किये जायेंगे। योजना अंतर्गत हितग्राहियों को 3 प्रतिशत का ब्याज अनुदान भी अलग से उपलब्ध कराया जायेगा। आज से प्रारंभ की गई नवीन कस्टम प्रोसेसिंग योजना ग्राम स्तर पर उपज की ग्रेडिंग करेगी और किसान भाई अलग-अलग ग्रेड के आधार पर अपनी उपज मण्डी में बेच सकेंगे।

यह भी पढ़े.. Indian Railways 2021 : यात्री कृपया ध्यान दें…ये ट्रेंने हुई कैंसिल, इन ट्रेनों का रुट बदला

कृषि मंत्री कमल पटेल ने  ने बताया कि मध्य प्रदेश की अधिकांश आबादी कृषि पर निर्भर करती है। प्रदेश में एक करोड़ से ज्यादा खातेदार हैं। इनमें से लगभग 80 प्रतिशत किसान लघु एवं सीमांत श्रेणी में आते हैं। कृषि आधारित अर्थ-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं के सशक्तिकरण के लिये अधिक से अधिक अवसर सृजित होंगे।