CM Helpline : शिकायतों के निपटारे में छोटे जिले आगे, रतलाम शीर्ष पर, इन जिलों को लगा झटका

सीएम हेल्पलाइन में बेहतर प्रदर्शन के मामले में रतलाम 93.5 ही सबके साथ पहले पायदान पर बना हुआ है।

CM HELPLINE

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) द्वारा लगातार सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) नंबर पर आ रही शिकायतों के जल्द निपटारे के निर्देश दिए जा रहे हैं। वहीं कई जिले फिसड्डी साबित हो रहे हैं। एक बार फिर से दिसंबर महीने की रैंकिंग (ranking) जारी कर दी गई है। जिसमें भोपाल-जबलपुर को रैंकिंग में बड़ा झटका लगा है। जनवरी 2022 में 1 दिसंबर 2021 से 30 दिसंबर 2021 की सीएम हेल्पलाइन की रैंकिंग जारी की गई है। जिसमें जबलपुर को आठवां स्थान मिला है।

हालांकि इस मामले में इस वर्ष इंदौर (indore) का प्रदर्शन काफी शानदार रहा है। भोपाल को बड़ा नुकसान लगा है। वही सीएम हेल्पलाइन में शिकायतों के निपटारे में बेहतर प्रदर्शन के बाद करें तो इसमें सबसे अव्वल स्थान रतलाम (Ratlam) जिले का है। रतलाम जिले में 656 शिकायतें दर्ज की गई है। जिनमें से अधिकतर शिकायतों का निपटारा किया गया। इसके साथ ही सीएम हेल्पलाइन में बेहतर प्रदर्शन के मामले में रतलाम 93.5 ही सबके साथ पहले पायदान पर बना हुआ है।

वही सिर्फ 5 जिलों में सीएम हेल्पलाइन के आंकड़ों की बात करें तो आर्थिक राजधानी इंदौर ने एक बार फिर से बेहतर प्रदर्शन करते हुए 85.23% अंक हासिल किए। इसके अलावा जबलपुर 84.58% अंक के साथ ए ग्रेडिंग पर बना हुआ है। वहीं राजधानी भोपाल जबलपुर से 1 अंक फिसल कर 84.55 फीसद शिकायतों का निपटारा करने में सफल रहा है। ग्वालियर इस मामले में 83.05 फीसद अंक के साथ सीएम हेल्पलाइन के शिकायतों के मामले में इंदौर जबलपुर भोपाल से पिछड़ गया है।

Read More : MPPEB 2022 : उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर, भर्ती के लिए आयोजित होगी महत्वपूर्ण परीक्षा, जाने तिथियां

ताजा जारी रैंकिंग के मुताबिक अक्टूबर महीने की जारी रैंकिंग में इंदौर तीसरे नंबर पर दिसंबर 2021 महीने में सीएम हेल्पलाइन में छह पायदान खिसककर आठवें स्थान पर पहुंच गया है। रतलाम ने इस मामले में पहला स्थान हासिल किया है। वह इंदौर इस मामले में छठे स्थान पर बना हुआ है। वहीं भोपाल को नौवां स्थान मिला है। जबकि ग्वालियर दसवें स्थान पर है।

सीएम हेल्पलाइन शिकायतों के निपटारे की रैंकिंग में छोटे जिले का प्रदर्शन काफी बेहतर आ गया है। वही खरगोन छतरपुर टीकमगढ़ ने इस मामले में बेहतर प्रदर्शन किया है। सीएम हेल्पलाइन नंबर में शिकायतों की गंभीरता को लेते हुए निगमायुक्त ने अधिकारियों को फटकार लगाई। इसके साथ ही उनका कहना है अधिकारियों के तबादले कर्मचारी बेपरवाह हो गए। जिसके बाद नतीजा यह हुआ रैंकिंग में जिलों को खासा नुकसान लगा है।