दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए नई गाइडलाइन जारी, इन बातों का रखना होगा विशेष ध्यान

हालांकि इससे पहले राजधानी भोपाल में 15 सौ से अधिक दुर्गा प्रतिमा स्थापित की जाती थी।

Corona Guideline
सांकेतिक तस्वीर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में Corona के बढ़ते रफ्तार को देखते हुए मूर्ति विसर्जन के लिए नई गाइडलाइन (guideline) जारी की गई है। पिछले साल की तरह इस साल भी शहर में चल समारोह नहीं किया जाएगा जिसके बाद दुर्गा प्रतिमा सीधे पंडाल से विसर्जन घाट पर जाएंगी। वही विसर्जन घाट पर भीड़ को रोकने की सलाह दी गई है इसके लिए घाटों पर बैरिकेट्स लगाए जाएंगे।

नई गाइडलाइन के मुताबिक एक प्रतिमा के साथ 10 से अधिक लोगों को शामिल नहीं होना है। साथ ही पुलिसकर्मी चप्पे-चप्पे पर नजर बनाए रखेंगे। दुर्गा प्रतिमाओं के बीच उचित दूरी का पालन करना अनिवार्य होगा।

Read More: दशहरा से पहले कर्मचारियों को तोहफा, सैलरी के साथ मिला 17 हजार रुपए बोनस

जिला प्रशासन के अधिकारियों के मुताबिक समितियों से जानकारी ली जा रही है। जिसके बाद जिला प्रशासन की टीम द्वारा रणनीति तैयार की जाएगी और एक साथ पहुंचने वाली दुर्गा प्रतिमाओं को कुछ दूरी पर रोका जाएगा। अकेले राजधानी भोपाल में 700 छोटी बड़ी प्रतिमा स्थापित की गई है। हालांकि इससे पहले राजधानी भोपाल में 15 सौ से अधिक दुर्गा प्रतिमा स्थापित की जाती थी।

वही भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कहा कि पुलिस, होमगार्ड, NDRF सहित 5000 कर्मचारी दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन की व्यवस्था करेंगे। इस दौरान चल समारोह की अनुमति नहीं दी जाएगी। भीड़ को रोकने के लिए बैरिकेड लगाए जाएंगे और नगर निगम के क्रेन से ही देवी प्रतिमाओं का विसर्जन होगा।