MP : 2 पंचायत सचिव समेत 7 कर्मचारी निलंबित, 4 को नोटिस, 3 ANM का वेतन काटा

समीक्षा के दौरान लैब-टैक्नीशियन सिविल अस्पताल केवलारी गौरव पीपरे और अब्दुल वाहिद खॉन को तत्काल निलंबित कर दिया गया है

mp NEWS

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) में लापरवाह अधिकारियों-कर्मचारियों पर एक के बाद एक कार्रवाई की जा रही है। नरसिंहपुर में वैक्सीनेशन कार्य में लापरवाही बरतने पर दो ग्राम पंचायत सचिव, शिवपुरी में सहायक शिक्षक, सिवनी में 2 लैब-टैक्नीशियन, देवास में चिकित्सा अधिकारी और नरसिंहपुर में 1 कर्मचारियों को निलंबित (Suspended) कर दिया गया है। वही दतिया में समाचार पत्रों में प्रकाशित खबर के संबंध में BMO से स्पष्टीकरण, खरगोन में अनुपस्थित रहने पर पंचायत सचिव और शहडोल में 2 सुपरवाइजरों को नोटिस जारी किए गए है। वही नरसिंहपुर में 3 ANM के वेतन काटने के निर्देश दिए गए है।

यह भी पढ़े.. PM Kisan : किसानों को जल्द मिल सकती है खुशखबरी, खाते में आएंगे 12 हजार सालाना!

नरसिंहपुर (Narsinghpur) में जनपद पंचायत गोटेगांव के ग्राम पंचायत गौरतला सचिव कमल विश्वकर्मा वैक्सीनेशन अभियान के अंतर्गत निर्धारित समय पर अपने कर्त्तव्य पर उपस्थित नहीं पाये गये, जिसके चलते उन्हें निलंबित कर दिया गया है। निलंबन‍ अवधि में इनका मुख्यालय कार्यालय जनपद पंचायत गोटेगांव नियत किया गया है। निलंबन अवधि में नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।वही कमल किशोर कुशवाहा ग्राम पंचायत बौछार जनपद पंचायत गोटेगांव को भी तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। निलंबन‍ अवधि में इनका मुख्यालय कार्यालय जनपद पंचायत गोटेगांव नियत किया गया है। निलंबन अवधि में नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।

शिवपुरी (Shivpuri) में कोविड-19 वैक्सीनेशन महाअभियान में लापरवाही बरतने के कारण विकासखंड नरवर के शासकीय प्राथमिक विद्यालय (Government School) खुंदावली के सहायक शिक्षक (Teacher) हरिमोहन गुप्ता को निलंबित किया गया है। यह कार्रवाई म.प्र.सिविल सेवा वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील नियम 1966 के अंतर्गत की गई है। निलंबन अवधि में संबंधित का मुख्यालय कार्यालय विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी नरवर रहेगा। निलंबन अवधि में संबंधित कर्मचारी को जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता नियमानुसार रहेगी।

यह भी पढ़े.. मध्य प्रदेश के किसानों के लिए राहत भरी खबर, पंजीयन शुरु, जानें पूरी प्रक्रिया

सिवनी में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (Seoni CMHO)  सिवनी डॉ राजेश श्रीवास्तव ने विभागीय समीक्षा के दौरान लैब-टैक्नीशियन सिविल अस्पताल केवलारी गौरव पीपरे और अब्दुल वाहिद खॉन को तत्काल निलंबित कर दिया गया है। दोनों का निलंबन के दौरान मुख्यालय जिला चिकित्सालय सिवनी होगा। निलंबन अवधि के दौरान शासन के नियमानुसार जीवन-निर्वाह भत्ता की पात्रताहोगी। यह कार्रवाई वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों की अवहेलना एवं पदीय दायित्वों के निर्वहन में घोर लापरवाही बरतने के चलते की गई है।

देवास में चिकित्सा अधिकारी और नरसिंहपुर में एक कर्मचारी भी निलंबित

उज्जैन संभागायुक्त (Ujjain Divisional Commissioner) संदीप यादव ने टीकाकरण महाअभियान के दौरान देवास जिले के चिकित्सा अधिकारी डॉ.जावेद पटेल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भौंरासा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सोनकच्छ के निर्धारित कर्त्तव्य स्थल से अनुपस्थित रहने और शासकीय कार्य के प्रति घोर लापरवाही एवं अनुशासनहीनता पर उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलम्बन आदेश की प्रभावशीलता के दौरान डॉ.पटेल का मुख्यालय कलेक्टर कार्यालय जिला देवास रहेगा।

वही नरसिंहपुर उप स्वास्थ्य केन्द्र भौरझिर में कोविड- 19 वैक्सीनेशन पंजीयन में पुरूष स्वास्थ्य कार्यकर्ता उप स्वास्थ्य केन्द्र गरहा दिनेश तिवारी के सत्र में उपस्थित नहीं और शासकीय कार्य में गंभीर लापरवाही बरतने के कारण तत्काल प्रभाव से आरोप अनुसार उचित कारण होने के फलस्वरूप शासकीय सेवा से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुकेश जैन ने निलंबित किया है। निलंबन अवधि में तिवारी का मुख्यालय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सांईखेड़ा निर्धारित किया गया है। संबंधित कर्मचारी को निलंबन अवधि में नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।

समाचार पत्रों में प्रकाशित खबर के संबंध में BMO मांगा स्पष्टीकरण

दतिया (Datia) में विभिन्न समाचार पत्रों में 11 सितम्बर 2021 को ”अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही पीएम हाउस में शवों दुर्गति, 18 घंटे बाद हुआ पोस्टमार्टम, 6 घंटे पानी में उतराती लाश परिजनों ने जताया आक्रोश” शीर्षक से प्रकाशित हुए समाचार के संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा खण्ड़ चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र इन्दरगढ़ जिला दतिया की लापरवाही एवं उदासीनता को देखते हुए इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगते हुए तत्काल वस्तु स्थिति से अवगत कराने के निर्देश दिए।

अनुपस्थिति और लापरवाही पर 1 सचिव और 2 सुपरवाइजर को नोटिस

खरगोन (Khargone) में जिला पंचायत सीईओ दिव्यांक सिंह ने के ग्राम पंचायत गढ़ी के सचिव फकरिया अवासे को कारण बताओ नोटिस जारी किया हैं। फकरिया गढ़ी ग्राम पंचायत में पिछले 6 माह से अनुपस्थित रहे हैं। इनका यह आचरण मप्र पंचायत सेवा भर्ती नियम 2011 के नियम (2) के (ग) एवं (च) के विपरीत है। वही शहडोल में अपर कलेक्टर ने कोविड-19 कार्य में लापरवाही बरतने पर सुपरवाइजरों को नोटिस देने के निर्देश दिए है। अपर कलेक्टर ने जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास से दूरभाष पर शहरी क्षेत्र की आंगनवाड़ी सुपरवाइजर वर्षा पांडेय एवं सुधा निगम के संबंध में जानकारी प्राप्त की तथा कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए नोटिस देने के निर्देश दिए।

3 ANM के वेतन काटने के आदेश

नरसिंहपुर मुख्य खंड चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सालीचौका ने ANM उप स्वास्थ्य केन्द्र बैरागढ़ देवी साहू एवं ANM उप स्वास्थ्य केन्द्र गोटीटोरिया- सालीचौका उमा यादव की ड्यूटी कोविड- 19 वैक्सीनेशन के तहत 13 सितम्बर को वनांचल के ग्राम तलैया, बड़ागांव व कुंभीखेड़ा में लगाई गई थी, लेकिन संबंधित सत्र स्थल तक नहीं पहंचने और शासकीय कामों में लापरवाही पर एक दिवस का वेतन काटने का आदेश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुकेश जैन ने जारी किया है। महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता उप स्वास्थ्य केन्द्र भौरझिर वंदना तिवारी 16 सितम्बर को उप स्वास्थ्य केन्द्र भौरझिर में कोविड- 19 वैक्सीनेशन में अनुपस्थित होने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुकेश जैन ने अवैतनिक अवकाश स्वीकृत करते हुए एक दिवस का वेतन काटे जाने का आदेश जारी किया है।