MP पंचायत चुनाव : 51 जिले में जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का निर्वाचन आज, जानें किस जिले में किसका पलड़ा रहेगा भारी

चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी को ही पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया है।

nagriy nikay chunav 2022

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव (MP Panchayat Election) होना है ।29 जुलाई को 51 जिले में होने वाले चुनाव से पहले राज्य निर्वाचन आयोग (State election Commission)के सचिव ने महत्वपूर्ण जानकारी दी है। राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव राकेश सिंह (Rakesh Jain) ने कहा कि सीधी जिले में एक जिला पंचायत वार्ड का परिणाम आज नहीं आएगा। दरअसल उच्च न्यायालय (High court) द्वारा सीधी के जिला पंचायत वार्ड का परिणाम स्थगित कर दिया गया। जिसके कारण आज वहां पर अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का निर्वाचन नहीं होगा।

वहीं शुक्रवार को सभी जिला मुख्यालय में जिला पंचायत के अध्यक्ष उपाध्यक्ष निर्वाचन होगा इसमें 875 निर्वाचित सदस्य 51 जिला पंचायत के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव करेंगे। चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी को ही पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया है। जनपद पंचायत के बाद अब जिला पंचायत के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष निर्वाचन होने हैं।

Read More : MPPSC : उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण सूचना, प्रोविजनल आंसर की जारी, दावे और आपत्तियों पर बड़ी अपडेट, इस परीक्षा के लिए जल्द जारी होंगे एडमिट कार्ड

बता दें कि पंचायत चुनाव गैर दलीय आधार पर किया जाता है लेकिन इस चुनाव में राजनीतिक दलों का पूरा दखल रहता है। इधर कांग्रेस की तरफ से पूर्व मंत्री और वरिष्ठ नेताओं को प्रभारी नियुक्त किया गया है जबकि बीजेपी की तरफ से विधायक, सांसद और मंत्री अधिक से अधिक अपने समर्थकों को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बनवाने के लिए जोड़-तोड़ में लगे हुए हैं।

वहीं जिला पंचायत के चुनाव के आंकड़ों की माने तो आज होने वाले 51 जिलों में से 25 से अधिक जिलों में बीजेपी के अध्यक्ष बनने की उम्मीद की जा रही है। हालांकि अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। इसके अलावा उज्जैन, अलीराजपुर, बड़वानी, शाजापुर, छतरपुर में मुकाबला देखने को मिल सकता है। माना जा रहा है कि यह बीजेपी और कांग्रेस के बीच कड़ा मुकाबला करेंगे। साथ ही खरगोन, रीवा, सतना, टीकमगढ़, दमोह, आगर मालवा, सीढ़ी, शहडोल, मंडला और धार में भी कड़े मुकाबले की उम्मीद की जा रही है।