भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश बीजेपी (MP BJP) के बाद अब मध्य प्रदेश कांग्रेस (MP Congress) में भी शीर्ष नेताओं के साथ मुलाकात का सिलसिला जारी हो गया है। 2 दिन से लगातार पार्टी के शीर्ष नेता एक दूसरे से मुलाकात कर रहे। हालांकि इन मुलाकात की स्पष्ट वजह तो सामने नहीं आ पाई है लेकिन असंतोष के स्वर के बीच नेताओं के मेल मुलाकात काफी कुछ इशारा कर रहे हैं।

दरअसल बीते दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव (arun yadav), पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह (ajay singh) से मिलने उनके घर पहुंचे। बंद कमरे में दोनों नेताओं के बीच लंबी चर्चा हुई। जिसके बाद अब प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी (jitu patwari) से मिलने अरुण यादव उनके घर पहुंचे थे। इससे पहले पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (sajjan singh verma) और जीतू पटवारी की मुलाकात हो चुकी है। जबकि पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा भी अरुण यादव से मुलाकात कर चुके हैं।

तीनों नेताओं के बीच इस लंबी चर्चा के अलग ही मायने निकाले जा रहे हैं। ज्ञात हो कि बीते दिनों राकेश चतुर्वेदी (rakesh chaturvedi) को रीवा का प्रभारी बनाए जाने पर अजय सिंह ने आपत्ति जताई थी। अरुण यादव ने भी बाबूलाल चौरसिया को कांग्रेस में शामिल किए जाने पर कड़ा विरोध प्रदर्शित किया था। ऐसे में प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी और प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी सचिव संजय कपूर के अजय सिंह और अरुण यादव से मुलाकात इस मायनों में भी महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं।

Read More: VIDEO VIRAL: होटल संचालक ने दलित युवक को खाना देने से किया इंकार, कहे जातिसूचक शब्द

दरअसल बीते दिनों से प्रदेश कांग्रेस के अंदर गहमा-गहमी देखी जा रही है। वही प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ जल्द कांग्रेस कार्यकारिणी समिति की घोषणा कर सकते हैं। ऐसे में कई दिग्गज का शीर्ष नेतृत्व से मिलने का सिलसिला भी सियासी मायनों में महत्वपूर्ण माना जा रहा है। बता दें कि प्रदेश कांग्रेस के पुनर्गठन में गुण और दोष के आधार पर प्रदेश शासन में संगठन का बदलाव किया जा सकता है। इस दौरान विरोधी स्वर अपनाने वाले नेताओं को दरकिनार किया जा सकता है। ऐसी स्थिति में सज्जन सिंह वर्मा और अरुण यादव की जीतू पटवारी के साथ भोपाल स्थित आवास पर हुई मुलाकात कई तरह की दलील सामने रख रही है।

वहीं सूत्रों की माने तो तीनों नेताओं के बीच मौजूदा राजनीतिक स्थिति सहित पार्टी के असंतोष से भरे नेताओं को लेकर बातचीत हुई। हालांकि नेताओं से चर्चा के बाद मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि पूरी पार्टी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ के नेतृत्व में संतोष और एकजुट है। किसी भी तरह के असंतोष पार्टी में नहीं है और एक बार फिर से मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाएंगे।