MP School: 1 से 8वीं तक के बच्चों के लिए शासन का बड़ा फैसला, ऐसी होगी प्रक्रिया

विभागों को निर्देश देते हुए राज्य शिक्षा केंद्र ने कहा कि पूरे प्रदेश में एक जैसी व्यवस्था रखने की कोशिश की जाए ताकि निगरानी में किसी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े।

school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा MP School बच्चों के हित में बड़ा फैसला लिया है। शुक्रवार को निर्देश जारी करते हुए राज्य शिक्षा केंद्र ने कहा कि अब निजी स्कूलों (private schools) की तरह ही प्रदेश के सरकारी स्कूलों (government schools) में भी 1 से 8वीं तक की कक्षा व्हाट्सएप (whatsapp) के जरिए लगाई जाएगी। राज्य शिक्षा केंद्र (State education center) ने निर्देश देते हुए कहा कि 10 जून से पहले व्हाट्सएप पर कक्षा Group तैयार कर लिया जाए और ग्रुप बनाकर बच्चों को उस में जोड़ने का काम तेजी से होना चाहिए, ताकि 10 जून के बाद बच्चों की पढ़ाई शुरू की जा सके।

विभागों को निर्देश देते हुए राज्य शिक्षा केंद्र ने कहा कि पूरे प्रदेश में एक जैसी व्यवस्था रखने की कोशिश की जाए ताकि निगरानी में किसी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े। इसके साथ ही शिक्षा केंद्र ने यह भी कहा कि 8वीं कक्षा का व्हाट्सएप ग्रुप (whatsapp) तब डिलीट किया जाएगा जब बच्चे 9वीं कक्षा में प्रवेश कर जाएंगे। वहीं पहली कक्षा के बाद से हर बार नया ग्रुप तैयार किया जाएगा। इसके अलावा ग्रुप में छोटे बच्चों के लिए उनके आस पास रहने वाले व्यक्ति को मेंटर (mentor) बनाने की बात कही गई है। जो पढ़ाई के दौरान बच्चे की मदद कर सके। यह मेंटर बच्चे को पढ़ाने के साथ-साथ उनके होमवर्क (homework) भी देंगे और उनके समस्या का समाधान भी करेंगे।

Read More: ज्योतिरादित्य सिंधिया हुए लापता! बोले कांग्रेस विधायक – कहां तुम चले गए

बता दें कि स्कूलों में फिलहाल ग्रीष्मकालीन अवकाश 13 जून तक है। इसके बाद सभी स्कूल की कक्षा खुलने की संभावना दिखाई दे रही है। हालांकि अभी स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा स्कूली बच्चों को रेडियो और दूरदर्शन के माध्यम से पढ़ाई करवाई जाएगी। जहां 6 से 12वीं तक की कक्षाएं दूरदर्शन क्लासरूम (doordarshan classroom) के नाम से सुबह 8:00 से 12:00 बजे तक संचालित होगी। वही 9वीं से 12वीं तक के लिए कक्षाएं सोमवार से शुक्रवार 1 घंटे तक दूरदर्शन पर प्रसारित किए जाएंगे।

शिक्षा विभाग द्वारा इन कक्षाओं के संचालन के लिए टीम की तैयारियां पूरी कर ली गई है। वहीं पाठ्यक्रम के प्रसारण में 16 शिक्षकों की मदद ली जाएगी। इस मामले में लोक शिक्षण संचनालय कि आयुक्त जयश्री कियावत (jayshree kiyawat) का कहना है कि विभाग के अधिकारियों का मानना है कि अब ग्रामीण से लेकर शहरी क्षेत्रों में टीवी उपलब्ध है। इसलिए दूरदर्शन के माध्यम से कक्षा लगाए जाने का फायदा सभी वर्ग के विद्यार्थियों को मिलेगा। इसके साथ ही साथ विभाग द्वारा व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से भी ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है।

https://cdn1.mpbreakingnews.in/wp-content/uploads/2021/05/mpbreaking46761458.pdf