MP : शिक्षकों के लिए बड़ी खबर, स्कूल शिक्षा विभाग ने शुरू की तैयारी, प्रस्ताव तैयार

ज्ञात हो कि 25 दिसंबर को करीब 50,000 प्रदेश के शिक्षक राजधानी भोपाल में एकत्रित होंगे और 6 दिन तक यहां डेरा डालेंगे।

teacher

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश सरकार (MP Government) ने प्रदेश के शिक्षकों (teachers) को बड़ी राहत देने की कोशिश की है। दरअसल विभाग शिक्षकों की क्रमोन्नति (Promotion) की मांग पर तेजी से काम कर रही है। इस मामले में स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) ने नया प्रस्ताव तैयार किया हैं। जिसके मुताबिक अब 12,24, 30 साल में प्रदेश के शिक्षकों को क्रमोन्नति दी जाएगी।

जानकारी के मुताबिक स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षकों की क्रमोन्नति के लिए बनाए गए प्रस्ताव को प्रशासकीय मंजूरी के लिए मंत्री इंदर सिंह परमार (Inder Singh parmar) के पास भेजा गया है। वही मंत्री की सहमति के बाद यह प्रस्ताव वित्त एवं सामान्य प्रशासन विभाग को भेजा जाएगा।

बता दे कि मध्य प्रदेश में लगातार शिक्षकों की क्रमोन्नति की मांग तेज हो रही है। ढाई साल से क्रमोन्नति के लिए नोटशीट लोक शिक्षण संचालनालय से मंत्रालय के बीच घूम रही है। अब ऐसे मामले में शिक्षक हर स्तर पर क्रमोन्नति की मांग कर रहे हैं। वहीं शिक्षकों की मनोकामना यात्रा से पहले अब राज्य सरकार ने यह बड़ी तैयारी की है।

Read More : MP Board : छात्रों के लिए बड़ी खबर, माशिमं ने किया टाइम टेबल घोषित, 12 जनवरी से शुरू होगी परीक्षा

हालांकि किस स्तर के शिक्षक को किस तरह की क्रमोन्नति मिलेंगे और उनके क्रमोन्नति का निर्णय कौन लेगा, यह अभी तय नहीं किया गया है। उच्च माध्यमिक, माध्यमिक और प्राथमिक शिक्षकों के क्रमोन्नति के निर्णय जल्द ही लिए जाएंगे। हाल की जानकारी की माने तो पुराने संवर्ग के आधार पर व्याख्याकर्ता की नियुक्ति आयुक्त लोक शिक्षण संचनालय, उच्च श्रेणी शिक्षक की नियुक्ति संभागीय संयुक्त संचालक और सहायक शिक्षक की नियुक्ति जिला शिक्षा अधिकारी को सौंपी जा सकती है।

बता दें कि संवर के लिए विभाग द्वारा अभी तक पदोन्नति क्रमोन्नति विभागीय समिति का गठन नहीं किया गया। जिस कारण से यह मामले लगातार उलझती जा रहे हैं। वही जनजातीय विभाग में शिक्षकों को नियुक्ति सहित क्रमोन्नति का लाभ दिया जा रहा है। इस मामले में शिक्षक संघ के अध्यक्ष का कहना है कि उन्हें पूरा भरोसा है कि जल्दी सरकार क्रमोन्नति की तरह पुरानी पेंशन बहाल करने की दिशा में भी कोई निर्णय लेगी। मनोकामना यात्रा के तहत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अपनी परेशानी बताने ही भोपाल पहुंच रहे हैं।

ज्ञात हो कि 25 दिसंबर को करीब 50,000 प्रदेश के शिक्षक राजधानी भोपाल में एकत्रित होंगे और 6 दिन तक यहां डेरा डालेंगे। इस दौरान सरकार के सामने कई तरह की तथ्यात्मक बात रखने के अलावा वह सरकार से पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग भी करेंगे। साथ ही स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा क्रमोन्नति पर भी मांग की जाएगी। जिसको देखते हुए एक बार फिर से स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा क्रमोन्नति की तैयारी शुरू कर दी गई है।