MPPEB : उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर, 15 से 17 हजार पदों पर होनी है भर्ती, अटक सकती है 11 परीक्षाएं, जाने कारण

अगस्त से नवंबर महीने तक में 11 परीक्षाओं का आयोजन होना है।

MPPEB

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट एमपीपीईबी के उम्मीदवारों (MPPEB Candidate) के लिए बड़ी खबर सामने आ रही है। जिससे उन्हें तगड़ा झटका लग सकता है। मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (Madhya Pradesh Professional Examination Board) द्वारा सितंबर से नवंबर महीने तक के बीच परीक्षा के आयोजन होने हैं। हालांकि अब इन परीक्षाओं में एक बार फिर से देरी की संभावना जताई गई है। दरअसल 3 करोड़ से अधिक रुपए का भुगतान नहीं होने पर निजी कॉलेजों द्वारा प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड के परीक्षा को आयोजित करने से इंकार कर दिया गया है। ऐसे में एक बार फिर से 15 से 17 हजार भर्तियां में उम्मीदवारों को देरी का सामना करना पड़ सकता है।

बता दें कि इस साल अगले 3 महीने में मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा कुल 9 से 12 परीक्षा का आयोजन किया जाना है। जिसके साथ ही 15 से 17 हजार पदों पर भर्ती होनी है। हालाकि MPPEB ने एग्जाम कराने का काम एडी क्यूटी नमक एजेंसी को दिया था। वही एजेंसी द्वारा इस काम को साईं एजुकेयर प्राइवेट लिमिटेड को सौंपा गया था। जिसमें एजेंसी ने भोपाल के 29 सहित पूरे एमपी के 120 कॉलेजों के साथ MPPEB भी परीक्षा आयोजित करने के लिए टाइअप किया।

हालांकि इसके बाद दिसंबर 2021 जनवरी 2022 में MPPEB द्वारा कांस्टेबल रिक्रूटमेंट परीक्षा का आयोजन किया गया था लेकिन भुगतान भी सिर्फ एजेंसी ने 25% राशि का भुगतान किया और 3 करोड़ टोटल का भुगतान नहीं होने की वजह से मामला अधर में लटक गया।

Read More : लापरवाही पर बड़ा एक्शन, पंचायत सचिव सहित 13 कर्मचारी निलंबित, कई को नोटिस जारी

अब इस मामले में एसोसिएशन ऑफ टेक्निकल एवं प्रोफेशनल कॉलेज के चेयरमैन केसी जैन का कहना है कि बीते साल दिसंबर और जनवरी फरवरी तक निजी कॉलेजों ने एग्जाम करे लेकिन उन्हें करोड़ों रुपए का भुगतान नहीं किया गया है और तीन करोड़ रुपए अभी बकाया है। निजी कॉलेज जब भी बकाए की मांग करते हैं तो एजेंसी MPPEB का नाम लेती है और एमपीपीईबी का कहना है कि उन्होंने एजेंसी को भुगतान कर दिया है। ऐसे में एसोसिएशन ऑफ टेक्निकल एवं प्रोफेशनल कॉलेज का साफ कहना है कि यदि उन्हें बकाए का भुगतान नहीं किया गया तो वह कोई भी परीक्षा नहीं करवा पाएंगे।

हालांकि निजी कॉलेज एजेंसी और एमपीपीईबी के बीच फंसा यह मामला छात्रों के भविष्य के साथ बेहद बड़ा खिलवाड़ माना जा सकता है। सितंबर से नवंबर महीने तक में 11 परीक्षाओं का आयोजन होना है। जिसमें समूह 4 सहायक ग्रेड 3 स्टेनो टाइपिस्ट स्टेनोग्राफर डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए सितंबर 2022 में एमपीपीईबी ने परीक्षा आयोजन करने की तिथि तय की है। इसके अलावा कौशल विकास संचालनालय के अंतर्गत प्रशिक्षण अधिकारी के पदों पर भर्ती प्रक्रिया के लिए परीक्षा का आयोजन किया जाना है।

साथ ही समूह 2-उप समूह 3 सहायक लोक विश्लेषक रासायनिक और अन्य पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया आयोजित की जानी है। इसके अलावा समूह 5 पैरामेडिकल संयुक्त भर्ती परीक्षा का भी आयोजन होना है। समूह 1 उप समूह 3 हाउसकीपर, सेक्रेटरी, सोशल वर्कर, कार्यक्रम प्रबंधक, बाल संरक्षक, जिला प्रबंधक, कौशल उन्नयन और रोजगार सहित अन्य पदों पर भर्ती प्रक्रिया का आयोजन अक्टूबर महीने में तय किया गया है।

जबकि समूह 2 उप समूह 2 कनिष्ठ लेखा अधिकारी और अन्य पदों हेतु भर्ती परीक्षा का भी आयोजन अक्टूबर महीने में होने हैं। वनरक्षक भर्ती सहित समूह 2 उप समूह 2 संयुक्त भर्ती परीक्षा और जेल उप निरीक्षक भर्ती परीक्षा का आयोजन नवंबर महीने में करवाना सुनिश्चित किया गया है। अब ऐसी स्थिति में एमपीपीईबी द्वारा इन परीक्षाओं के आयोजन में देरी देखने को मिल सकती है।