PM Kisan : 12 करोड़ किसानों के लिए अच्छी खबर, खाते में जल्द आएंगे 12वीं किस्त के 2000 रुपए, नियम में बदलाव, इन गलतियों में करें सुधार

रिपोर्ट की माने तो पीएम किसान सम्मान निधि की 12वीं की लिस्ट 31 अगस्त के बाद कभी भी जारी हो सकती है।

PM KISAN update

नई दिल्ली,डेस्क रिपोर्ट। देश के करोड़ों किसानों (farmers) के लिए महत्वपूर्ण सूचना है। यदि आप भी पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan) के लाभार्थी हैं तो जल्द ही आपके खाते में 12वीं किस्त (pm kisan 12th installments) के 2000 रूपए ट्रांसफर होने वाले हैं। इससे पहले एक महत्वपूर्ण आदेश के तहत यदि आपने अब तक ईकेवाईसी का कार्य पूरा नहीं किया है तो आपकी राशि अटक सकती है। दरअसल सरकार द्वारा ईकेवाईसी कराने के लिए अंतिम तारीख की डेडलाइन तय कर दी गई है। किसान 31 अगस्त यानी आज तक ईकेवाईसी का कार्य पूरा कर ले। ऐसा नहीं कराने वालों के पैसे उनके खाते में नहीं पहुंचेंगे।

इसके अलावा यदि आपने भी चार बड़ी गलतियां की है तो आपकी 12वीं किस्त की राशि अटक सकती है।

आवेदन फॉर्म भरते हुए किसी तरह की गलती

यदि किसानों द्वारा योजना की शुरुआत में आवेदन फॉर्म भरते हुए किसी तरह की गलती की गई है तो किस्त के पैसे अटक सकते हैं। दरअसल योजना में नाम, जेंड,र जन्म तिथि सहित खाता संख्या और अन्य जानकारी एक बार फिर से जांच लें। इस जानकारी में किसी भी तरह की गलती होने की स्थिति में किसानों के किस्त के पैसे अटक सकते हैं और वह राशि का लाभ उठाने से वंचित रह सकते हैं।

ईकेवाईसी का कार्य

योजना के लाभार्थी होने के बावजूद यदि अपने ईकेवाईसी का कार्य पूरा नहीं किया है तो आपकी किस्त की राशि अटक जाएगी। इसके लिए आखिरी तारीख 31 अगस्त 2022 यानी आज की तय की गई है। किसानों को सलाह दी जाती है कि जिन्होंने अभी तक ईकेवाईसी का कार्य पूरा नहीं किया वह ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीके से इसे पूरा कर सकते हैं।

Read More : अधिकारियों-कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, इस भत्ते में 9% से 27% तक की वृद्धि, खाते में बढ़कर आएगी राशि, आदेश जारी

गलत तरीके से योजना का लाभ

पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ गलत तरीके से रहे तो अब आपको किस्त का लाभ नहीं मिलेगा दरअसल सरकार द्वारा के राज्य में लगातार नोटिस जारी की जा रही है। वहीं अपात्रों के नाम योजना से काटे जा रहे हैं। यदि आप भी अपात्रों की श्रेणी में आते हैं तो आपको योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।

फॉर्म और आधार कार्ड में नाम की स्पेलिंग अलग अलग

इसके अलावा यदि आपने अपने फॉर्म और आधार कार्ड में नाम की स्पेलिंग अलग अलग तरीके से लिखी है तो आप योजना के लाभ से वंचित रह सकते हैं। दरअसल आधार कार्ड में अंकित नाम ही आपके फॉर्म पर अंकित होना चाहिए। इसके लिए जल्द से जल्द इसमें सुधार करवा ले, वरना अब की 12वीं क़िस्त की राशि आपके खाते में आने से रुक सकती है।

रिपोर्ट की माने तो पीएम किसान सम्मान निधि की 12वीं की लिस्ट 31 अगस्त के बाद कभी भी जारी हो सकती है। इसके लिए अगस्त से नवंबर तक के बीच क़िस्त जारी होनी है। हितग्राहियों को सितंबर के दूसरे सप्ताह तक खाते में पैसे भेजे जा सकते हैं। बता दें कि पिछली बार यह राशि 9 अगस्त को जारी की गई थी। ऐसे में माना जा रहा है कि सितंबर में हितग्राहियों को इसका लाभ मिलेगा।

Read More : कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज़, मिलेगा सातवें वेतनमान का लाभ, सिपाही प्रमोशन-वेतन में होगी वृद्धि, 10000 पद होंगे सृजित, कैबिनेट का बड़ा फैसला

नया नियम

वहीं सजा में महत्वपूर्ण बदलाव भी हुए हैं समय-समय पर होने वाले इस बदलाव में देखा गया कि कुछ लोग इस योजना का लाभ गलत तरीके से ले रहे। जिस को दूर करने के लिए और उपयुक्त पात्रों को ही योजना का लाभ देने के लिए अब राशन कार्ड को जरूरी कर दिया गया है। नए किसान इस स्कीम में खुद को जोड़ने के इच्छुक हैं। उन्हें राशन कार्ड जमा करना अनिवार्य होगा। इसके अलावा पूर्व में इस योजना से जुड़े किसानों को ईकेवाईसी का मौका दिया गया है। 31 अगस्त तक किसान ईकेवाईसी का कार्य पूरा कर सकते हैं। ऐसा नहीं होने की स्थिति में वह योजना के लाभ से वंचित होंगे।

बता दें कि मोदी सरकार द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता देने के लिए फरवरी 2019 में पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की गई थी। इसके तहत छोटे और सीमांत किसानों के लिए इस योजना को लागू किया गया था। वैसे किसान जिनके पास 2 हेक्टेयर तक की भूमि है। उन्हें इस योजना में शामिल किया गया था। हालांकि 2019 से सभी भूमि द्वारा किसानों को कवर करने के लिए इस योजना के दायरे को बढ़ा दिया गया था।

इससे पहले केंद्र सरकार द्वारा हर साल ₹6000 की आर्थिक सहायता किसान परिवारों को दी जाती है, तीन समान किस्त में 2000 किसानों को उपलब्ध कराए जाते हैं। हालांकि इस योजना में अब तक 11वीं किस्त जारी की जा चुकी है। वहीं किसान लंबे समय से 12वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं। 12वीं किस्त के लिए पिछले साल के मुकाबले इस वर्ष 21 दिन की देरी हो चुकी है। वही अब उम्मीद जताई जा रही है कि जल्दी किसानों के खाते में राशि अंतरित की जाएगी।