Scindia shivraj

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र में मंत्री बनते ही ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditay scindia) ने मध्यप्रदेश (madhya pradesh) को बड़ी सौगात दी है। मध्य प्रदेश के ग्वालियर से 5 शहरों के लिए हवाई सेवा का शुभारंभ कर दिया गया इस कार्यक्रम में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivra singh chauhan)  भी शामिल रहे। Virtual माध्यम से हवाई सेवा के शुभारंभ को हरी झंडी दिखाई गई। वहीं सांसद विवेक नारायण शेजलवार, ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर और प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने ग्वालियर में हवाई सेवा को हरी झंडी दिखाई है। दोपहर 1:00 बजे ग्वालियर से पुणे के लिए फ्लाइट ने उड़ान भरी।

गौरतलब है कि ग्वालियर से पुणे के लिए सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को ग्वालियर से हवाई सेवा रहेगी। वही अहमदाबाद से मुंबई के लिए ग्वालियर से मंगलवार गुरुवार शनिवार और रविवार को फ्लाइट संचालित की जाएगी। मध्य प्रदेश से इन Flight की मंजूरी को लेकर चर्चा पहले ही थी लेकिन ज्योतिरादित्य Scindia के मंत्री बनते ही इन उड़ानों के परिचालन को मंजूरी दे दी गई थी। ज्ञात हो कि 16 जुलाई को मध्य प्रदेश आठ नई उड़ानों की सौगात मिली थी। इन 8 उड़ानों में से छह अकेले ग्वालियर (gwalior) से जबकि एक जबलपुर (jabalpur) से उड़ान भरेगी।

Read More: दिग्गज अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का 75 वर्ष की उम्र में हृदयाघात से निधन

सिंधिया ने जिन Flight को मंजूरी दी है। उसमें ग्वालियर-अहमदाबाद-ग्वालियर, ग्वालियर-मुंबई-ग्वालियर, ग्वालियर-पुणे-ग्वालियर और जबलपुर-सूरत-जबलपुर फ्लाइट को अनुमति मिली है। आज मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ वर्चुअल कार्यक्रम से जुड़ गई ज्योतिरादित्य सिंधिया इन फ्लाइट का शुभारंभ करेंगे।

इससे पहले कांग्रेस (congress) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमकर निशाना साधा है। कांग्रेस ने कहा कि सिंधिया को झूठा श्रेय लेने की पुरानी आदत है। मामले में कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा (narendra saluja)  ने कहा कि केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री के तौर पर पदभार ग्रहण करने के बाद भी झूठा श्रेय लेने की आदत scindia छोड़ नहीं पाए। अब ज्योतिरादित्य स्पाइसजेट की मध्य प्रदेश के लिए पूर्व निर्धारित 16 जुलाई से प्रारंभ होने वाली 8 उड़ानों का झूठा श्रेय लेने में लगे हुए हैं।

सलूजा ने कहा ग्वालियर क्षेत्र में कई काम का झूठा श्रेय लेने के कारण उन्हीं की पार्टी के स्थानीय नेता खुलकर सिंधिया का विरोध कर रहे हैं। सभी जानते हैं कि स्पाइसजेट की तरफ से शुरू होने वाले इन उड़ानों में सिंधिया का कोई योगदान नहीं है लेकिन सिंधिया ने फेंकने में जरूर मोदी जी और शिवराज को पीछे छोड़ दिया है।