वाराणसी में शिवराज: संकट मोचन मंदिर में गाई सीता-राम धुन, पौधरोपण भी किया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पत्नी साधना सिंह के साथ वाराणसी का तीन दिवसीय प्रवास पूरा कर अयोध्या के लिए रवाना हो गए।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  वाराणसी के प्रवास पर गए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) भक्तिभाव में डूबे दिखाई दिए।  मुख्यमंत्री यहाँ सुबह संकट मोचन मंदिर(Sankat Mochan Temple) पहुंचे।  यहाँ उन्होंने भगवान बजरंगवली के दर्शन किये और मंदिर में बैठकर रामनामी ओढ़कर सीता-राम धुन (Sita Ram Dhuan) गाई।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने एक पौधा  प्रतिदिन लगाने के संकल्प भी वाराणसी में निभाया और पौधरोपण भी किया।

सीएम शिवराज सिंह चौहान वाराणसी में कहा कि यहाँ आध्यात्मिक अनुभव भी दिव्य है बाबा विश्वनाथ की ये नगरी आध्यात्मिक ऊर्जा का स्रोत है यहाँ ज्ञानचक्षु भी खुल जाते हैं। बाबा काशी विश्वनाथ कॉरिडोर (Baba Kashi Vishwanath Corridor) का निर्माण अपने आप में ना केवल भव्य है बल्कि राष्ट्रीय पुनर्निर्माण का भी प्रतीक है।

ये भी पढ़ें – महाकाल की भस्म आरती में घुसा मुस्लिम युवक, हिन्दू नाम की लगाई आईडी

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा के दर्शन करके नई ऊर्जा के साथ अयोध्या प्रस्थान करेंगे।  बाबा विश्वनाथ ( Baba Vishwanath) के दर्शन किये हैं तो काशी के कोतवाल को भी प्रणाम किया और फिर संकट मोचन मंदिर में आशीर्वाद लिया है।  तीनों दिन मन अपार आनंद से भर गया।  महा आनंद में डूबे रहे अब नई ऊर्जा और प्रेरणा लेकर जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें – कर्मचारियों को New Year में मिलेंगे एक साथ 2 गिफ्ट, 30000 तक बढ़ जाएगी सैलरी, जानिए अपडेट

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक पौधा प्रतिदिन लगाने के संकल्प को वाराणसी में भी पूरा किया उन्होंने पत्नी साधना सिंह के साथ  काशी की पुण्यधरा पर वैदिक मंत्रोच्चार के बीच कंपनी बाग में नवल श्री पौधे का रोपण किया।