MP Weather: मप्र में ठंड का कहर, इन जिलों में कोल्ड वेव का अलर्ट, जानें अपने शहर का हाल

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) के अनुसार, 48 घंटे कड़ाके की ठंड और पाला पड़ने के आसार है।  21 दिसंबर के बाद मौसम के बदलने के आसार है।

mp weather

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। उत्तर भारत के पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी ने मध्य प्रदेश के मौसम (MP Weather Update) के मिजाज बदल दिए है, जिसके चलते शीतलहर चल रही है और प्रदेशभर में कड़ाके की ठंड पड़ रही है।तापमान में भी गिरावट दर्ज की जा रही है। पिछले 24 घंटे में सबसे न्यूनतम तापमान 0.5 पचमढ़ी में दर्ज किया गया है और कई जिलों में पारा 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे आ गया।मौसम विभाग ने आज 20 दिसंबर को सभी संभागों में सीवियर कोल्ड वेव (severe cold wave) और कोल्ड वेव का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।वही एक दर्जन से ज्यादा जिलों में पाला पड़ने की भी चेतावनी जारी की गई है।

यह भी पढ़े.. MPTET Exam 2021: 28 दिसंबर तक भरे जाएंगे फॉर्म, 5 मार्च से शुरु होगी परीक्षा, ये है नियम

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Forecast)ने आज सोमवार 20 दिसंबर 2021 को भोपाल, इंदौर, उज्जैन, सागर, जबलपुर, रीवा,ग्वालियर, चंबल, होशंगाबाद और शहडोल संभागों के जिलों में दो दिन तक तीव्र शीतलहर चलने का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वही रीवा, उमरिया, छतरपुर, टीकमगढ़, मंडला, बालाघाट, सीहोर, भोपाल, रायसेन, भिंड, मुरैना, श्योपुर, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना और दतिया जिलों में पाला पड़ने का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।इसके साथ ही 16किमी/ घंटा की रफ्तार चलने के आसार है।

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) के अनुसार, 48 घंटे कड़ाके की ठंड और पाला पड़ने के आसार है।  21 दिसंबर के बाद मौसम के बदलने के आसार है। चुंकी 22 दिसंबर को एक पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है, जिसके प्रभाव से हवाओं का रुख बदलेगा और तापमान में बढ़ोतरी देखने को मिलेगाी। वही 25 के बाद चंबल समेत अन्य जिलों में कही कहीं बारिश हो सकती है।हवाओं के साथ नमी आने से रात के तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। इससे ठंड से कुछ राहत मिलने लगेगी।

यह भी पढ़े.. MP में कोरोना विस्फोट, आज फिर 20 नए पॉजिटिव, 10 दिन में 188 केस, भोपाल-इंदौर ने बढ़ाई चिंता

मौसम विभाग के अनुसार,  10 साल में पहली बार भोपाल में 4 डिग्री और ग्वालियर में 2 डिग्री के नीचे आया है। अभी सिर्फ होशंगाबाद और सिवनी में ही न्यूनतम तापमान 7 डिग्री से अधिक है, जबकि पूरे प्रदेश में यह 7 डिग्री से काफी नीचे आ गया है। इंदौर में रविवार तीव्र शीतल दिन रहा वहीं आज सोमवार सुबह 7 साल बाद न्यूनतम तापमान 5 डिग्री कम 6.5 डिग्री दर्ज किया गया। इसके पूर्व वर्ष 2014 में इंदौर में 17 दिसंबर को न्यूनतम तापमान पांच डिग्री दर्ज किया गया था।वही जबलपुर में न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री  और ग्वालियर में न्यूनतम तापमान 1.8 डिग्री तक नीचे पहुंच गया।

MP Weather: मप्र में ठंड का कहर, इन जिलों में कोल्ड वेव का अलर्ट, जानें अपने शहर का हाल