रजत पदक विजेता ने 2 साल बाद खाया ‘घर का खाना’, साझा की खुशी

इम्फाल, डेस्क रिपोर्ट। घर के खाने से बेहतरीन कुछ नहीं हो सकता। दरअसल ऐसा हम नहीं कह रहे, ऐसा कहना है ओलिंपिक (Tokyo olympics) में Silver Medal जीती मीराबाई चानू का। मीराबाई चानू (Mirabai chanu) ने 29 जुलाई की देर रात ट्विटर (twitter) पर अपनी और अपने परिवार की एक तस्वीर डालते हुए कहा कि घर के खाने से बढ़कर कुछ नहीं हो सकता। घर के बने खाने के साथ खुद की एक तस्वीर साझा करते हुए, एथलीट (athlete) ने लिखा- वह मुस्कान जब आप 2 साल बाद घर का खाना खाते हैं।

लगन और सरलता ऐसी कई विशेषताएं हैं, जो आपको ओलंपिक पदक दिलाती हैं और मीराबाई चानू ने इसे सच साबित कर दिया। हाल ही में एक सोशल मीडिया पोस्ट में रजत पदक विजेता ने अपने परिवार के साथ पुनर्मिलन के क्षणों को साझा किया।मीराबाई दो वर्षों के बाद घर लौटी थी। इससे पहले गुरुवार को मीराबाई ने अपने परिवार के साथ अपने घर पर भोजन की एक और पोस्ट साझा की। जिसपर लोग उनकी सादगी और सरलता की बात करते नहीं थक रहे हैं।

Read More: MP School: अगस्त से लगेगी 9वीं-10वीं की कक्षाएं, इन बातों का रखना होगा ध्यान

चानू इंफाल में अपने घर गई और अपने कुछ अनमोल पलों को साझा करने के लिए उन्होंने ट्विटर का सहारा लिया। तब से इस पोस्ट ने बहुत से लोगों का दिल जीता है। ट्वीट में चानू ने लिखा है की 2 साल के लंबे अंतराल के बाद अपने परिवार से मिलने का यह अहसास शब्दों से परे है। मुझ पर विश्वास करने और मेरा समर्थन करने के लिए मैं आप में से प्रत्येक की आभारी हूं। मेरे लिए इस स्तर तक पहुंचने के लिए आपने जो बलिदान दिया है, उसके लिए मां और बाबा को धन्यवाद|

मीराबाई चानू के इस पोस्ट को यूजर्स द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है। बढ़-चढ़कर यूजर्स मीराबाई के पोस्ट पर कमेंट करें और उनकी सादगी और सरलता की तारीफ कर रहे हैं। यूजर्स का कहना है कि निरहुआ का सरल स्वभाव ही उन्हें औरों से अलग बनाता है। निश्चित ही वह पदक के योग्य है।