DA

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मोदी सरकार (Modi Government) द्वारा केंद्रीय कर्मचारियों (7th Pay Commission) का महंगाई भत्ता (DA) को 17% से बढ़ाकर 28% कर दिया गया है। 1 जुलाई 2021 से महंगाई भत्ते (DA)का लाभ देश के 48 लाख 34 हजार केंद्रीय कर्मचारियों और 65 लाख 26 हजार पेंशनर्स को मिलेगा। वही दूसरी तरफ मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सरकारी कर्मचारियों ने DA बढ़ाने की मांग की है और मांगे पूरी ना होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।मंत्रालय कर्मचारी संघ ने प्रदर्शन की सूचना राज्य सरकार को दे दी।

यह भी पढ़े.. MP Olympic Association: रमेश मेंदोला को अध्‍यक्ष की जिम्मेदारी, दिग्विजय सिंह बने सचिव

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित मंत्रालय के करीब 5 लाख कर्मचारियों ने 20 जुलाई को एक दिवसीय हड़ताल का ऐलान किया है।कर्मचारियों की मांग है कि एरियर, वेतन वृद्धि और केंद्र के समान प्रमोशन दिया जाए। कर्मचारियों ने मप्र सरकार से मांग की है उनका महंगाई भत्ता केंद्र के सामान बढ़ाया जाए, लंबे समय से रुकी वेतन वृद्धि दी जाए और सरकारी कर्मचारियों का प्रमोशन भी लंबे समय से रुका हुआ है, ऐसे में सभी कर्मचारियों को प्रमोशन भी मिलना चाहिए।

कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक का कहना है कि मध्य प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों (Government Employees)   का महंगाई भत्ता (DA) लंबे समय से नहीं बढ़ाया गया है। कर्मचारियों को 200 रुपये परिवहन भत्ता मिलता है,जबकी पेट्रोल की कीमत 110 रुपये लीटर हो गई है, ऐसे में एक माह परिवहन भत्ता 200 रुपए दिया जाना एक मजाक है।हमने संकट के समय सरकार का साथ दिया है, प्रदेश में सबसे ज्यादा कोरोना से कर्मचारियों की मौत हुई हैं, लेकिन हमारा महंगाई भत्ता तक नहीं बढ़ाया जा रहा है,इसलिए हम सरकार  (MP Government) से मांग करते हैं कि हमारा महंगाई भत्ता बढ़ाया जाए।

यह भी पढ़े.. अब आंदोलन की राह पर MP के बिजली कर्मचारी-अधिकारी, मांगे पूरी ना होने से नाराज

कर्मचारी संघ के अध्यक्ष ने चेतावनी देते हुए कहा कि  20 जुलाई को सभी कर्मचारी एक दिन की हड़ताल पर जा रहे हैं। इसके बाद सरकार के जवाब का इंतजार किया जाएगा, अगर इसके बावजूद सरकार ने हमारी मांगों पर गौर नहीं किया तो वह आगे आंदोलन करेंगे।इसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।