लापरवाही पर एक्शन, कलेक्टर ने उपयंत्री–पंचायत सचिव को किया तत्काल प्रभाव से निलंबित

निर्माण कार्यों की मॉनिटरिंग भी नहीं की जा रही थी। जहाँ जांच में जनपद सीईओ की लापरवाही देखने को मिली है।

suspend

अशोकनगर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में लापरवाही पर लगातार एक्शन लिया जा रहा है। वही अधिकारी कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित (suspend) किए जाने की कार्रवाई जारी है। इसी बीच वित्तीय अनियमितता, गुणवत्ताहीन काम के कारण जनपद पंचायत उपयंत्री सहित पंचायत सचिव (panchayat Secretary) को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इसके अलावा जनपद सीईओ (CEO) सहित सहायक यंत्री को भी कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं।

दरअसल बीते दिनों अशोकनगर कलेक्टर अभय वर्मा कार्यालय के निरीक्षण करने पहुंचे। जहां ग्राम पंचायत बामोरा में निर्माण कार्य में वित्तीय अनियमितता के साथ-साथ गुणवत्ताहीन कार्य शैली पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की। इसके साथ ही निर्माण कार्यों की मॉनिटरिंग भी नहीं की जा रही थी। जहाँ जांच में जनपद सीईओ की लापरवाही देखने को मिली है।

Read More: शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के बीच कमलनाथ की सीएम शिवराज से मांग, बोले- कई हो जाएंगे अपात्र

जिसके बाद कलेक्टर वर्मा ने जनपद जनपद सीईओ-सहायक यंत्री को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। वही साफ शब्दों में कहा कि अगर संतोषजनक जवाब प्राप्त नहीं हुए तो दोनों पर कार्रवाई की जाएगी। इसी के साथ जनपद पंचायत उपयंत्री राजेश निखरा और सचिव गजराज सिंह कुशवाहा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

बता दें कि निलंबन अवधि के दौरान जनपद पंचायत उपयंत्री राजेश निखरा का मुख्यालय अशोकनगर कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा रहेगा। जबकि सचिव गजराज सिंह कुशवाहा को निलंबन अवधि में ईसागढ़ मुख्यालय पंचायत में रहना होग।