इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में संक्रमण के बढ़े मामले के बीच में इंदौर (indore) एक बार फिर से कोरोना का हॉटस्पॉट (corona hotspot) बनता जा रहा है। बीते दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने शनिवार और रविवार को लॉकडाउन (lockdown) की घोषणा की थी लेकिन अब इंदौर में एक बार फिर से 7 दिन के लिए लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है। हालांकि व्यापारी वर्ग द्वारा लगातार लॉकडाउन का विरोध किया जा रहा है। वहीं आशंका जताई जा रही है कि ऐन वक्त पर निर्णय बदल कर प्रशासन 19 अप्रैल के बाद फिर से एक बार लॉकडाउन की अवधि बढ़ा सकता है।

ऐसे में शनिवार को देर रात बैठक आयोजित की गई। जिसमें आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य और पूर्व महापौर कृष्ण मुरारी मोघे ने व्यापारियों को आश्वासन दिया है कि 19 अप्रैल के बाद लॉकडाउन नहीं बढ़ाया जाएगा। दरअसल पूर्व महापौर कृष्ण मुरारी मोघे ने कहा कि संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए लॉकडाउन को बढ़ाना अनिवार्य था। कलेक्टर मनीष सिंह सहित आपदा प्रबंधन समिति की बैठक रेसीडेंसी कोठी पर की गई।बिगड़ते हालात पर चर्चा करते हुए व्यापारी वर्ग ने कहा कि अचानक से शनिवार रविवार के लॉकडाउन को 7 दिन की अवधि तक बढ़ा दिया गया है। वहीं अगर यह स्थिति आगे भी जारी रही तो व्यापारी वर्ग को खासा नुकसान होगा।

Read More: लॉक डाउन के 24 घण्टे में इंदौर में पाए गए 919 संक्रमित, 8296 लोगों को लगा टीका, एक डाॅक्टर की मौत

वही व्यापारी वर्ग द्वारा आधा प्रबंधन समिति से आश्वासन मांगा गया कि 19 अप्रैल के बाद शहर में गतिविधियां बंद नहीं रखी जाएगी। जिस पर मोघे ने कहा कि मुख्यमंत्री को प्रस्ताव दिया गया था तभी लॉकडाउन पर सहमति बनी है। मुख्यमंत्री खुद लंबा लॉकडाउन नहीं चाहते हैं और आर्थिक नुकसान से बचा जाए। इसके लिए छोटे-छोटे अंतराल पर लॉकडाउन लगाया जा रहा है। ताकि जिले में बढ़ते संक्रमण की रफ्तार को रोका जा सके। वही मोघे द्वारा व्यापारियों को आश्वासन दिया गया है कि 19 अप्रैल के बाद जिला में लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया नहीं जाएगा।

बता दे कि कल आपदा प्रबंधन समिति की बैठक के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को इंदौर जिले में 7 दिन का लॉकडाउन लगाने के प्रस्ताव दिए गए। जिसके बाद मुख्यमंत्री ने इस बात पर सहमति दे दी। लगातार संक्रमण के मामले में शीर्ष पर बने रहने की वजह से इंदौर में चेन को तोड़ना आवश्यक है। इसके लिए यह लॉकडाउन लगाए गए हैं।