Bhopal News: इस बड़ी तैयारी में राज्य सरकार, 19 जुलाई से शुरू होगा ये अभियान

इसके अलावा शिवराज सरकार द्वारा लगातार कुपोषित बच्चों के लिए मॉनिटरिंग करवाई जा रही है और उनके पोषण के लिए पोषण आहार जैसी सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।

shivraj singh chouhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh)  में कुपोषित बच्चों (malnourished children) के स्वास्थ्य सुधार के लिए शिवराज सरकार (shivraj government) सचेत हो गई है। वहीं स्वास्थ्य विभाग (health department) को लगातार इस मामले में निर्देश दिए जा रहे हैं। इसी बीच राजधानी भोपाल में स्वास्थ्य विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग (Women and Child Development Department) द्वारा संयुक्त रुप से दस्तक अभियान चलाए जाने की तैयारी की जा रही है। 19 जुलाई से राजधानी भोपाल में दस्तक अभियान की शुरुआत की जाएगी।

बता दे स्वास्थ्य विभाग और से महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त दल ANM, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता 5 साल तक के बच्चों के घर जाकर उनके अंदर पाई जाने वाली बीमारी की पहचान करेंगी। 19 जुलाई से शहर में शुरू होने वाले इस दस्तक अभियान (Dastak Abhiyaan) की शुरुआत में ANM, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बच्चों के घर घर जाएंगे। वही अभियान 18 अगस्त तक चलेगा। जिसमें बच्चों को समय पर इलाज (treatment) किया जा सकेगा और मृत्यु दर में भी कमी लाई जा सकेगी।

Read More: Jabalpur News: जेल प्रहरी पति की प्रताड़ना से तंग आकर पत्नी ने खाया जहर

इसके अलावा 9 महीने से 5 साल तक की आयु के बच्चे को विटामिन ए (vitamin A) की खुराक भी दी जाएगी। 5 साल से कम उम्र तक के कुपोषित बच्चों की पहचान की जाएगी और जन्मजात विकृतियां निमोनिया आदि अन्य बीमारी की पहचान कर राज्य सरकार बच्चों का इलाज करेगी।

इससे पहले मध्य प्रदेश हाईकोर्ट द्वारा प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कुपोषित बच्चों की संख्या पर शिवराज सरकार से सवाल पूछे गए थे। इस दौरान सरकार को कोर्ट में अपनी दलील प्रस्तुत करनी थी। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट (MP Highcourt) ने राज्य सरकार से पूछा है कि कुपोषित बच्चों के लिए वह क्या कर रहे हैं। इसके अलावा शिवराज सरकार द्वारा लगातार कुपोषित बच्चों के लिए मॉनिटरिंग करवाई जा रही है और उनके पोषण के लिए पोषण आहार जैसी सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।