IT

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में एक चूड़ी व्यापारी की अवैध संपत्ति (Illegal property) पर आईटी विभाग (IT Department) ने कार्रवाई की। जहां बेनामी संपत्ति के मामले में मध्यप्रदेश का अब तक का सबसे बड़ा मामला सामने आया है। वही आयकर विभाग द्वारा व्यापारी पीयूष गुप्ता (piyush gupta) के 125 करोड़ रूपए की 225 बेनामी संपत्तियों को अटैच किया गया है।

दरअसल राजधानी के जमीन और चूड़ी व्यापारी पीयूष गुप्ता की लगभग 225 बेनामी संपत्ति को अटैच किया गया। यह संपत्ति भोपाल और मध्य प्रदेश के कई अन्य जिले सहित मुंबई (mumbai) से भी अटैच की गई है आयकर विभाग को छापेमारी के दौरान करीब 265 एकड़ की जमीन मिली थी। इसके अलावा कई फ्लैट और दुकानें भी बेनामी संपत्ति में शामिल थे।

Read More: Betul: कोरोना से स्थिति गंभीर, 72 घंटे का LOCKDOWN, धार्मिक स्थलों पर प्रवेश प्रतिबंधित

ज्ञात हो कि आयकर विभाग ने पिछले साल अगस्त 2020 में गोल्डन कंपनी के मालिक पियूष गुप्ता के ठिकानों पर छापेमारी कार्रवाई की थी। जहां गुप्ता के कुछ कर्मचारियों के नाम करोड़ों की संपत्ति के अलावा कई बेनामी संपत्ति सामने आई थी। जब कर्मचारियों से पूछताछ की गई तो उन्होंने इस बारे में कुछ नहीं पता था। इतना ही नहीं व्यापारी गुप्ता की कंपनी में कई रिटायर्ड अफसरों के भी इन्वेस्टमेंट का पता चला था।

जिसके बाद अब आयकर विभाग की टीम ने इन बेनामी संपत्ति को अटैच किया है। इसमें ज्यादातर संपत्ति गुप्ता के कंपनी के कर्मचारियों के नाम पर हैं। वहीं कई जमीन रिश्तेदारों के नाम पर भी खरीदी गई है। यह संपत्ति राजधानी भोपाल के सिविल लाइन, श्यामला हिल्स सहित मध्य प्रदेश के कई जिले में स्थित है। वहीं मुंबई के गोरेगांव, उत्तर प्रदेश के आगरा और गोवा में व्यापारी पीयूष गुप्ता की बेनामी संपत्ति का पता चला था। जिसे अटैच किया गया है।