Betul: कोरोना से स्थिति गंभीर, 72 घंटे का LOCKDOWN, धार्मिक स्थलों पर प्रवेश प्रतिबंधित

देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पर स्वास्थ्य विभाग सहित एम्स ने रिपोर्ट जारी की है। जिसमें कहा गया है कि संक्रमण के मामले सबसे ज्यादा युवा और बच्चों में देखे जा रहे हैं।

लॉकडाउन
लॉकडाउन

बैतूल, डेस्क रिपोर्ट। जिले में बढ़ते संक्रमण (infection) को देखते हुए जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति ने 2 अप्रैल से 72 घंटे लॉकडाउन (LOCKDOWN) का ऐलान कर दिया है। दरअसल बैतूल कोरोना (betul corona) के बड़े मामले सामने आ रहे हैं। जिसके बाद 10 दिन तक धार्मिक स्थलों पर प्रतिबंध लगाए गए हैं। जिसके बाद आमजन धार्मिक स्थलों पर प्रवेश नहीं कर पाएंगे। हालांकि सांकेतिक पूजा अर्चना की अनुमति दी गई है।

प्रदेश में एक बार फिर से कोरोना (corona) केस में बढ़ोतरी देखी जा रही है। जिसके बाद संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए बैतूल के जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति (District crisis Management Committee) ने बड़ा फैसला लिया है। यहां 2 अप्रैल से 72 घंटे का सुरक्षित बंद का ऐलान किया गया है। 72 घंटे लगे इस लॉकडाउन (lock down) में जरूरी सामानों पर छूट रहेगी। इसके अलावा धार्मिक स्थलों पर प्रतिबंध लगाए गए हैं। छात्रावास (hostel) को भी बंद रखा जाएगा। जरूरी कामों के लिए बाहर निकलने की छूट प्रदान की गई है।

Read More: दबंग SDOP उमेश तोमर का आज दिल्ली में निधन, प्रशासनिक कार्यकुशलता के रहे हैं चर्चे

बता दे कि एक बार फिर से प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते नजर आ रहे हैं। प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार 10% पहुंच गई है। इसके बाद एक बार फिर से सरकार ने चेतावनी जारी कर दी है। इसके अलावा सभी जिले में जिला अस्पतालों में बेड बढ़ाए जाने की व्यवस्था के निर्देश दे दिए गए हैं। वही लोगों के मास्क पर सरकार सख्ती का पालन कर रही है ना जाने पर जुर्माना वसूला जा रहा है।साथ ही ओपन जेल की व्यवस्था भी की गई है।

देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पर स्वास्थ्य विभाग सहित एम्स ने रिपोर्ट जारी की है। जिसमें कहा गया है कि संक्रमण के मामले सबसे ज्यादा युवा और बच्चों में देखे जा रहे हैं। ऐसी स्थिति में युवाओं का एक दूसरे के संपर्क में आना दूसरे लहर को बढ़ावा दे रहा है। वहीं 45 वर्ष से अधिक के लोगों को आरक्षण देने की प्रक्रिया शुरू की गई है।