-Biggest-announcement-of-CM-Kamal-Nath--clean-workers-of-6-cities-will-get-5-thousand-bonus

भोपाल। स्वच्छता में मध्य प्रदेश लगातार अपना नाम देश भर में रोशन कर रहा है| स्वच्छता सर्वेक्षण में प्रदेश ने इस बार बड़ी उपलब्धि मिली है| इस उपलब्ध के पीछे असली हकदार सफाई कर्मी हैं, जो पूरी लगन और ईमानदारी के साथ सफाई के अभियान को साकार करने में जुटे रहे| ऐसे कर्मचारियों को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बड़ा तोहफा दिया है|  सफाई कर्मचारियों को 5-5 हजार रुपए बोनस के रुप में सम्मान राशि देने की घोषणा की है।

स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 के आधार पर देश के सबसे स्वच्छ और साफ शहरों के नाम का ऐलान बुधवार को राष्ट्रपति भवन में किया। स्वच्छता सर्वेक्षण में मध्य प्रदेश को खास स्थान मिला है|  इस सर्वे में इंदौर लगातार तीसरी बार सबसे स्वच्छ शहर बना है, वहीं भोपाल शहर सबसे स्वच्छ राजधानी वर्ग में पहले स्थान पर रहा। वहीं देश के टॉप 20 स्वच्छ शहरों में मध्यप्रदेश के 6 शहर भी हैं। इसमें इंदौर, उज्जैन, देवास, खरगोन, नागदा और भोपाल शामिल हैं। टॉप 20 में आने वाले इन 6 शहरों के सभी सफाई कर्मचारियों को 5-5 हजार रुपए बोनस के रुप में सम्मान राशि देने की घोषणा की है। 

सभी सफाई कर्मचारी बधाई के पात्र- सीएम 

सीएम कमलनाथ ने कहा कि इन सभी शहरों की सफलता में जनता की जागरूकता व जनभागीदारी तो है ही लेकिन इन शहरों को साफ और स्वच्छ मेहनत इन शहरों के सफाईकर्मियों की है। जिनकी रात दिन की कड़ी मेहनत व अथक परिश्रम से यह संभव हो सका है। सीएम ने कहा कि टॉप 20 स्वच्छ शहरों में आए इन 6 शहरों की जनता तो बधाई के पात्र है ही, लेकिन इन शहरों के सफाईकर्मियों के योगदान की हमें सराहना करना चाहिए। इन सफाईकर्मियों के जज्बे ने प्रदेश को ये उपलब्धि दिलाई है। इनके अथक परिश्रम की जितनी सराहना की जाए वो कम है। सभी सफाई कर्मचारी बधाई के पात्र है।

मप्र ने जीते सबसे ज्यादा खिताब 

स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 की कैटेगरी में सबसे ज्यादा मध्य प्रदेश के शहरों ने खिताब जीते हैं| मध्य प्रदेश की ओर से मंत्री जयवर्धन सिंह ने ये पुरस्कार लिया| मध्य प्रदेश के इंदौर को सबसे साफ़ शहर, भोपाल को सबसे साफ़ राजधानी और सबसे स्वच्छ छोटा शहर (5 लाख तक की आबादी वाला) कैटेगरी में उज्जैन को सबसे साफ़ शहर चुना गया है|

मध्य प्रदेश के शहरों की रैंकिंग 

– इंदौर – पहला नंबर – 4659.09 नंबर

– उज्जैन – चौथा नंबर – 4244.47

– देवास – 10वां नंबर- 3967.61

– खरगोन – 17वां नंबर – 3798.34

– नागदा – 18वां नंबर – 3794.48

– भोपाल – 19वां नंबर – 3793.68

(5 हजार में से प्राप्त हुए नंबर)