पूर्व विधायक

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना की दूसरी महामारी से निपटने के बाद अब BJP चुनाव मोड में है। बीजेपी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक 24 महीने बाद होने जा रही है। वर्चुअल मोड पर होने वाली इस बैठक को राष्ट्रीय अध्यक्ष भी संबोधित करेंगे।

नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने वैक्सीनेशन महाअभियान को लेकर कही ये बात

बीजेपी के पार्टी संविधान में यह प्रावधान है कि हर तीन माह में प्रदेश कार्यसमिति की बैठक बुलाई जाए। लेकिन कोरोना की पहली और दूसरी लहर के चलते यह बैठक लगातार टलती रही और अब 42 महीने के बाद 24 जून को यह बैठक की जा रही है। बीजेपी के इतिहास में यह पहली बार है कि यह बैठक वर्चुअल आयोजित की जाएगी। इस बैठक को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्ढा भी संबोधित करेंगे इस बैठक में कोरोना महामारी पर प्रस्ताव भी लाया जाएगा। दमोह विधानसभा उपचुनाव में करारी शिकस्त के बाद बीजेपी अब आत्मचिंतन भी करेगी कि आखिरकार कहां चूक हुई और आने वाले खंडवा लोकसभा उपचुनाव के साथ-साथ तीन विधानसभा उपचुनाव और नगरीय निकाय के संभावित चुनाव के मद्देनजर पार्टी को अब क्या रणनीति बनानी है, इस पर भी विचार होगा। यह बैठक दिन भर चलेगी और हर जिले के संगठन के साथ पार्टी से वर्चुअल तरीके से बात करेगी।

इस बैठक में प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव के साथ-साथ संगठन महामंत्री शिव प्रकाश भी शामिल होंगे। कार्यसमिति की बैठक के पहले प्रवक्ताओं और पैनेलिस्टों की टीम का भी ऐलान किया जाएगा। बैठक में कोरोना महामारी पर प्रस्ताव के साथ-साथ कई राजनीतिक प्रस्ताव भी लाए जाएंगे। इसके बाद 1 जुलाई से 15 जुलाई तक जिला कार्यसमिति की और 16 जुलाई से 31 जुलाई तक मंडल कार्यसमितियो की बैठकों का आयोजन प्रस्तावित है। बैठक को लेकर बीजेपी में पड़ी तेजी के साथ तैयारियां चल रही है और हर जिले में एलईडी स्क्रीन लगाकर बैठक संपादित की जाएगी।