कमलनाथ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अभी बीजेपी- एमपी कांग्रेस (MP Congress) के बीच ट्विटर अकाउंट को लेकर घमासान खत्म ही हुआ था कि अब बीजेपी ने ट्वीटर (BJP Twitter) के माध्यम से कमलनाथ (Kamal Nath) की जगह “नया प्रदेशाध्यक्ष कौन होगा” की पोलिंग करवाकर नया युद्ध छेड़ दिया है। भाजपा के इस पोल में जनता सज्जन सिंह वर्मा और जयवर्धन सिंह को पछाड़ जीतू पटवारी को 60 प्रतिशत वोट दिए है। बीजेपी के इस दांव को आगामी चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है, जिसमें वो सोशल मीडिया के माध्यम से कमलनाथ समेत कांग्रेस की घेराबंदी करने की तैयारी में है।

यह भी पढ़े.. MP Weather: अगले 24 घंटे में बदलेगा मौसम! मप्र के इन जिलों में आज बारिश के आसार

दरअसल, 5 जुलाई को मध्यप्रदेश बीजेपी ने सोशल मीडिया (Social Media) के माध्यम ट्वीटर पर एक ऑनलाइन पोल करवाया था, जिसमें यूजर्स से पूछा गया था कि कमलनाथ की जगह जीतू पटवारी (Jitu Patwari), सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Varma) और जयवर्धन सिंह (Jaiwardhan Singh) में से किसे कांग्रेस आलाकमान प्रदेश अध्यक्ष बना रही है। 5 जुलाई की शाम 7.50 बजे किए गए इस ट्वीट में 6 जुलाई की शाम 4 बजे तक 1235 लोग वोट कर चुके थे। इसमें सर्वाधिक 60 फीसद लोगों ने जीतू पटवारी को वोट दिया है। वहीं, सबसे कम 13 फीसद वोट पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा को मिले हैं।

जीतू पटवारी को सबसे ज्यादा 59.7%, जयवर्धन सिंह को 27.4%, तो सज्जन वर्मा को सबसे कम 12.9% वोट मिले। जीतू पटवारी राऊ विधानसभा से कांग्रेस विधायक है और कांग्रेस में मध्य प्रदेश का बड़ा युवा चेहरा है और कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके है। वे प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष रहे हैं, वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष होने के साथ-साथ मीडिया विभाग के अध्यक्ष भी हैं। वही जयवर्धन सिंह पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे हैं और कमलनाथ सरकार में मंत्री रह चुके है। सज्जन वर्मा भी दिग्गज नेताओं में से एक जाने जाते है हैं। कमलनाथ के करीबी भी हैं।

यह भी पढ़े.. Modi Cabinet Expansion: चिराग पासवान का ऐलान-इन्हें कैबिनेट में मंत्री बनाया तो जाउंगा कोर्ट

आपको बता दे कि वर्तमान में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पूर्व नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे है। इसमें से एक पद को छोड़ने की बात समय समय पर उठती आई है, लेकिन अबतक फैसला नहीं हो पाया है कि कमलनाथ कौन सा पद अपने पास रखेंगे। हालांकि, यह संकेत उन्होंने कई बार दिया है कि वे एक पद से मुक्त होना चाहते हैं, इससे उन्होंने केंद्रीय संगठन को भी अवगत करा दिया है।  वही अहमद पटेल के निधन के बाद से कमलनाथ के दिल्ली (Delhi) जाने की अटकलें भी चलती रही है, लेकिन कमलनाथ इसे खारिज करते हुए साफ कह चुके है कि मैं मध्यप्रदेश मैं ही रहूंगा।

इसके अलावा हाल ही में BJP की कार्यसमिति की बैठक में भी सामने आया था कि एमपी बीजेपी की तुलना में एमपी कांग्रेस  (MP Congress) के फॉलोवर ज्यादा है।वर्तमान में BJP मध्य प्रदेश के ट्विटर पर 7 के ज्यादा फॉलोअर्स है, जबकि कांग्रेस के फॉलोअर की संख्या 9 लाख के पार है। इस पर बीजेपी संगठन मंत्री ने भी नाराजगी जताई थी और सोशल मीडिया के माध्यम से कांग्रेस को घेरने के लिए कहा था, जिसका असर अब देखने को मिल रहा है।सबसे खास बात ये है कि मोदी कैबिनेट विस्तार (Modi cabinet expansion) और ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के केंद्रीय मंत्री बनने की चर्चाओं के बीच BJP ने यह पोल करवाकर नई बहस छेड़ दी है, जिसने सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म कर दिया है।

यह भी पढ़े.. दिग्गज अभिनेता Dilip Kumar का 98 वर्ष की उम्र में निधन, हिंदुजा में ली अंतिम सांस