MP पंचायत चुनावों से पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान ने की बड़ी घोषणा

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि जननायक टंट्या मामा की स्मृति में 4 करोड़ 55 लाख की लागत से पातालपानी में नवतीर्थ स्थल बनाया जायेगा।

सीएम शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में पंचायत चुनावों (MP Panchayat Election 2021-22) की तारीखों के ऐलान और आचार संहिता से पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने बड़ी घोषणा की है। सीएम शिवराज ने ऐलान किया है कि जननायक #TantyaMama जी की स्मृति में प्रतिवर्ष 4 दिसंबर को पातालपानी में मेला लगेगा। क्षेत्र का विकास किया जाएगा। उनकी स्मृतियों को संजोया जाएगा, जिससे देश को उनके व्यक्तित्व और बलिदान से प्रेरणा मिल सके।

यह भी पढ़े.. मप्र पंचायत चुनाव 2021: 3 चरणों में होंगे चुनाव, जनवरी-फरवरी में होगी वोटिंग!

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि जननायक टंट्या मामा की स्मृति में 4 करोड़ 55 लाख की लागत से पातालपानी में नवतीर्थ स्थल बनाया जायेगा। यह केवल मामा टंट्या मामा का ही नहीं, बल्कि समस्त जनजातीय भाई-बहनों का सम्मान है। श्रद्धेय टंट्या मामा जी ने अन्याय का विरोध किया था। बिना लाइसेंस (License) जो सूदखोरी करेंगे उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। बिना लाइसेंस वालों ने 15 अगस्त तक जो भी उधार दिए हैं, वे माफ हो गए हैं, उन्हें वापस करने की जरूरत नहीं है।मुझे बताते हुए अति गौरव और प्रसन्नता की अनुभूति हो रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के आशीर्वाद से MP में पेसा एक्ट लागू कर दिया गया है और ग्राम सभाओं को अधिक सशक्त किया गया है।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh ) में जिन जनजातीय भाई-बहनों के पास जमीन नहीं है, उन्हें जमीन का पट्टा देकर जमीन का मालिक बनाया जाएगा। आवास की व्यवस्था की जाएगी। मध्य प्रदेश की धरती पर कोई बिना जमीन या मकान के नहीं रहेगा। सभी को मकान मालिक बनाएंगे।।जनजातीय भाई-बहनों को वन अधिकार के पट्टे देने का क्रम जारी रहेगा। जिनके दिसंबर 06 से पूर्व के पट्टे हैं, उन्हें जमीन दी जाएगी। साथ ही जिन लोगों पर अपराध के छोटे-मोटे मामूली मामले चल रहे हैं उन सभी को वापस लिया जाएगा

यह भी पढ़े.. मध्यप्रदेश पंचायत चुनाव का बिगुल, शाम से लग सकती है आचार संहिता

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने वर्षों तक राज किया, लेकिन खेतों तक पानी पहुंचाने की व्यवस्था नहीं की। हमारी बीजेपी की सरकार ने जनजातीय क्षेत्रों में खेत तक पानी पहुंचाया। जहां नहरों से पानी नहीं पहुंचेगा वहां पाइपलाइन से पानी पहुंचा रहे हैं।पारंपरिक फसलों की पैदावार की तरह ही वन उपज की भी समर्थन मूल्य खरीदी की जाएगी, जिससे हमारे जनजातीय भाई-बहनों को वन उपज की उचित कीमत मिल सके और उनका जीवन समृद्ध हो सके।

मेरे युवा बेटे-बेटियों, एक लाख बैकलॉग के पदों पर भर्ती प्रारंभ कर दी गई है। मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना (Chief Minister Enterprise Revolution Scheme)  में 50 लाख रुपये तक उद्योग लगाने के लिए लोन (Loan) दिया जायेगा। बैंकों (Bank) को गारंटी भी सरकार देगी और ब्याज पर 3% सब्सिडी भी। अब राशन के लिए पूरा दिन व्यर्थ नहीं जाएगा, बल्कि “राशन आपके ग्राम योजना” के तहत राशन गांव में ही मिल जाएगा। राशन पहुंचाने के लिए सरकारी वाहनों के बजाय जनजातीय युवाओं को वाहन बैंक से सरकार ने फाइनेंस करवाए हैं