खबर का असर : शिवराज सिंह चौहान का एक्शन- मुरैना कलेक्टर और SP को हटाया, SDOP निलंबित

इसमें मुरैना कांड में दोषी पाए गए बड़े अधिकारियों के ऊपर भी कार्रवाई की जा सकती है सूत्रों के हवाले प्राथमिक तौर पर इस मामले में मुरैना एसपी (Morena SP) को पद से हटाया जा सकता है

MP

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुरैना (Morena) में जहरीली शराब (Poisonous liquor) पीने से हुई 16 मौतों को प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj government ने गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने लापरवाही बरतने के चलते मुरैना कलेक्टर (Morena Collector) और एसपी (Morena SP) को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है।वही एसडीओपी (Morena SDOP) को भी निलंबित करने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़े… मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान- जो कमिटमेंट किए है, उन्हें पूरा करेंगे

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा मुरैना की घटना अमानवीय और तकलीफ पहुंचाने वाली है।मिलावट के विरुद्ध अभियान संचालित है,फिर भी घटना दुखद है। कलेक्टर और एसपी हटाने के निर्देश दिए है । पूरे मामले की जांच होगी, ऐसे मामलों में अगर कलेक्टर एसपी दोषी होंगे, एक्शन लिया जाएगा। मैं मूक दर्शक नहीं रह सकता। प्रदेश में अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा ।आबकारी अमला पर्याप्त हो। रिक्त पद भरें,शराब व्यवसाय पर कड़ी निगरानी हो।

दरअसल,  मुरैना जहरीली शराब कांड में 16 लोगों की मौत और कईयों के बीमार होने के चलते आज बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  मुख्यमंत्री निवास पर एक बड़ी बैठक बुलाई है, जिसमें गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा  (Dr. Narottam Mishra के साथ-साथ मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह राजेश राजौरा सहित कई बड़े पुलिस अधिकारी आबकारी मंत्री जगदीश देवड़ा (Jagdish Deora) व आबकारी विभाग (Excise Department) के आयुक्त शामिल होने पहुंचे है।

यह भी पढ़े… Jabalpur News : CMHO का ऐलान- सबसे पहले मैं लगवाउंगा कोरोना वैक्सीन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस महानिदेशक से घटना की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। मुरैना जिले में हुई घटना में उपयोग में लाई गई मिलावटी शराब के निर्माण केन्द्र और दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कार्यवाही के साथ ही संबंधित डिस्टलरी की जाँच के निर्देश भी दिए गए। मुख्यमंत्री ने आबकारी और पुलिस अमले की पद-स्थापना में निश्चित समयावधि के बाद परिवर्तन के निर्देश भी दिए और कहा डिस्टलरी के लिए पदस्थ आबकारी अमले और ओआईसी को ओवर टाइम दिए जाने की व्यवस्था में भी परिवर्तन किया जाए।

बैठक की शुरुआत में ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना कलेक्टर, एसपी और एसडीओपी पर बड़ी कार्रवाई की और पद से हटा दिया। वही बैठक में प्रदेश में अवैध शराब बेचने वालों के खिलाफ कुछ और बड़ी कार्रवाई करने के लिए मुख्यमंत्री नीतिगत निर्णय ले सकते हैं सरकार यह भी तय कर सकती है कि ऐसे मामलों में स्थानीय प्रशासन की क्या जवाबदेही होगी।

बता दे कि मंगलवार को ही एमपी ब्रेकिंग न्यूज (MP Breaking New) ने जहरीली शराब मामला : मुरैना एसपी पर गिर सकती है गाज इस खबर को प्रमुखता से दिखाया था और बड़ी कार्रवाई की बात कही थी। ऐसे में एक बार फिर एमपी ब्रेकिंग न्यूज की खबर का असर हुआ है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा बड़ी कार्रवाई की गई है।

इसके पहले मंगलवार को शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि मुरैना में जहरीली शराब दुर्घटना अत्यंत दु:खद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। दुर्घटना की जांच के आदेश दिए गए हैं। कमिश्नर ग्वालियर-चंबल (Commissioner Gwalior-Chambal) ने जांच दल बनाया है, जिसने जांच प्रारंभ कर दी है। जो भी व्यक्ति दोषी होंगे, उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई होगी। घटना में प्रथमदृष्टया सुपरविजन के लापरवाही पाए जाने पर, जिला आबकारी अधिकारी मुरैना (District Excise Officer Morena) और मुरैना टीआई को तत्काल प्रभाव से निलंबित(Suspended) कर दिया गया है।