MPPSC

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बीते दिनों राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग को प्रभावी बनाने के लिये मध्यप्रदेश राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग (Madhya Pradesh State Backward Classes Commission) के गठन संबंधी प्रावधानों में संशोधन किया गया था। अब मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग  (Madhya Pradesh Public Service Commission-MPPSC) के अध्यक्ष-सदस्य चयन समिति पुनर्गठित की गई है, इसमें अब दो मंत्रियों को शामिल लिया गया है।

MP : गणतंत्र दिवस के मौके पर 2 IPS समेत इन अफसरों को मिलेगा तोहफा

दरअसल,  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) की अध्यक्षता में मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) के अध्यक्ष एवं सदस्यों की नियुक्ति के चयन के लिये समिति का पुनर्गठन किया गया है। समिति के सदस्यों में आदिम जाति कल्याण एवं अनुसूचित जाति कल्याण (Tribal Welfare and Scheduled Caste Welfare) मंत्री कु. मीना सिंह मांडवे और स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) (School Education Department)एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री  इन्दर सिंह परमार (Minister Inder Singh Parmar) शामिल किये गये हैं। समिति का मंत्रालयीन कार्य अपर मुख्य सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग (General Administration Department) द्वारा किया जाएगा।

इससे पहले सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग अध्यक्ष एवं सदस्यों के चयन के लिये समिति का गठन किया गया था। मुख्यमंत्री एवं भारसाधक मंत्री, सामान्य प्रशासन शिवराज सिंह चौहान को समिति का अध्यक्ष और आदिम-जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह को समिति का सदस्य बनाया गया था, लेकिन आज सोमवार को समिति को पुनर्गठित की गई है।

यह भी पढ़े… MP Politics: तैयार की जा रही है कांग्रेस नेताओं की सूची, गिर सकती है गाज, यह है मामला

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (Madhyapradesh Public Service Commission (MPPSC) मध्यप्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन) भारत के संविधान द्वारा स्थापित एक संवैधानिक निकाय है जो मध्यप्रदेश सरकार के लोकसेवा के पदाधिकारियों की नियुक्ति के लिए परीक्षाओं का संचालन करती है। संविधान के भाग-14 के अंतर्गत अनुच्छेद 315-323 में एक संघीय लोक सेवा आयोग और राज्यों के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के गठन का प्रावधान है।