अब MP में डेंगू ने बढ़ाई चिंता, इन जिलों में स्थिति गंभीर, कलेक्टरों से बोले सीएम-ध्यान दें

डेंगू

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना  के बाद वायरल फीवर और डेंगू ने भी शिवराज सरकार की चिंता बढ़ा दी है, हालांकि  रोज आ रहे केसों को लेकर शासन और प्रशासन अलर्ट है, ऐसे में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 15 सितंबर को प्रदेशवासियों के साथ मिलकर डेंगू के खिलाफ अभियान चलाएंगे।इसके अंतर्गत प्रात 10:00 से 10:30 के बीच प्रदेश में सभी जगह फागिंग लारवा नष्ट करने, जल जमाव को खाली करने जैसी डेंगू से बचाव और नियंत्रण संबंधी गतिविधियां चलाई जाएंगी।

यह भी पढ़े.. MP Weather : मप्र के 19 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, बिजली गिरने के भी आसार

सीएम शिवराज सिंह ने आज आज निवास पर वीसी के माध्यम से वैक्सीनेशन कार्य की समीक्षा बैठक और डेंगू, चिकनगुनिया के मामलों की ज़िलों के कलेक्टर्स के साथ चर्चा की व आवश्यक निर्देश दिये और कहा कि नगरीय निकाय, स्वास्थ्य विभाग का अमला फॉगिंग कार्य, लार्वा सर्वे, लार्वा को नष्ट करने का कार्य करेगा। प्रदेशवासी अपने घरों में कूलर, टंकी खाली प्लॉट, गड्ढों इत्यादि की सफाई करेंगे। प्रदेशवासियों को अभियान में शामिल होने के लिये प्रेरित करने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा।

यह भी पढ़े.. MP Corona Update: 9 दिन में 120 केस, आज फिर 5 नए पॉजिटिव, त्यौहारों को लेकर सख्ती

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल, जबलपुर और इंदौर कलेक्टर को ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने सभी जिला अस्पतालों में 10 बेड का आइसोलेनशन वार्ड तैयार करने का कहा है। प्रदेश के तीन महानगरों सहित मंदसौर, रतलाम, आगर मालवा और छिंदवाड़ा में डेंगू के साथ चिकनगुनिया के मरीज बढ़ते जा रहे हैं।डेंगू निराकरण के लिए मंदसौर, जबलपुर, रतलाम, आगर मालवा, भोपाल, छिंदवाड़ा, इंदौर जिलो में प्रशासन विशेष ध्यान दे ।

बैठक में अधिकारियों को दिए ये निर्देश

  • सीएम शिवराज सिंह चौहान ने लार्वा नियंत्रण हेतु टेमीफोस, बीटीआई जैसे एंटीलार्वल रसायन का उपयोग करने, फॉगिंग एवं छिड़काव हेतु पर्याप्‍त मात्रा में क्रियाशील कम्‍प्रेसर पंप, फॉगिंग मशीन इत्‍यादि की उपलब्‍धता के संबंध में निर्देश दिए।
  • समीक्षा बैठक में सीएम चौहान ने शासकीय चिकित्सालयों में फीवर क्लीनिक का क्रियान्वयन तेजी से शुरु व नियमित समीक्षा करने, डेंगू के उपचार हेतु जिला अस्पतालों में 10 बिस्तर का आइसोलेशन वार्ड सुनिश्चित करने, जिलों में रैपिड रिस्पांस टीमों का गठन करने के निर्देश दिए।
  • प्रभावित क्षेत्रों में रसायन साइफेनोथ्रिन 5% द्वारा आउटडोर फॉगिंग कार्य करने, कीटनाशक पायरेथर्म 2% द्वारा डेंगू पॉजिटिव रोगी के घर के आसपास 400 मी. क्षेत्र में स्थित 50 घरों में स्पेस स्प्रे करने के निर्देश द्वारा दिये गए हैं।
  • नागरिकों से कूलर, टंकी, खाली प्लाट, गड्डों इत्यादि की नियमित सफाई करने का आग्रह किया। उन्होंने अधिकारियों को मच्छर के लार्वा शून्य होने तक प्रभावित क्षेत्रों में एंटीलारवल गतिविधियां चालू रखने के निर्देश दिए।
  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अतिरिक्त दल गठित कर रैपिड फीवर सर्वे एवं वेक्टर कंट्रोल गतिविधियां शुरू करने, प्रभावित क्षेत्र में वाहक मच्छरों की वृद्धि के स्रोत में कमी लाने हेतु प्रयास करने, 7 दिनों से अधिक समय तक किसी भी स्थान पर जलभराव न होना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
  • बुखार प्रभावित रोगिओं को एलएलआईएन/बेड नेट का प्रयोग करने की सलाह देने, लार्वा सर्वे एवं फोगिंग कार्य हेतु ग्रामीण क्षेत्रो में आशा,आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, पंचायत कर्मी तथा शहरी क्षेत्रो में नगरीय प्रशासन, नगर पालिक, निगम का सहयोग लेने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं।