सीएम शिवराज सिंह के निर्देश-उपार्जन केंद्रों की तिथि बढ़ाएँ, Tauktae के दुष्परिणामों का आकलन करें

सीएम शिवराज सिंह ने कहा है कि सभी जिलों में सख्ती से कोरोना संक्रमण रोकने, अस्पतालों में कोरोना उपचार की उत्कृष्ट व्यवस्था के साथ ही पोस्ट कोविड केयर पर भी पूरा ध्यान दिया जाए।

पीवी सिंधु शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि जिन क्षेत्रों में किसानों (Farmers) का गेहूँ उपार्जन से शेष हो, वहाँ के उपार्जन केंद्रों की तिथि बढ़ाएँ। हर एक किसान का गेहूँ खरीदा जाना सुनिश्चित किया जाए।वही सीएम शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिए कि देश में आने वाले तूफान ‘Tauktae’ के मध्यप्रदेश पर होने वाले दुष्परिणामों का आकलन कर लिया जाए। इसके कारण प्रदेश की ऑक्सीजन की आपूर्ति प्रभावित न हो। अत: पहले से ही ऑक्सीजन का पर्याप्त भंडारण कर लिया जाए।

यह भी पढ़े.. मप्र में रिकवरी रेट 86.10%, सामने आया सीएम शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान

आज बैठक में सीएम शिवराज सिंह ने कहा है कि सभी जिलों में सख्ती से कोरोना संक्रमण रोकने, अस्पतालों में कोरोना उपचार की उत्कृष्ट व्यवस्था के साथ ही पोस्ट कोविड केयर पर भी पूरा ध्यान दिया जाए। पोस्ट कोविड दुष्प्रभाव होने पर, जो मरीज होम आयसोलेशन अथवा कोविड केयर सेंटर्स में हैं, उन्हें इलाज की आवश्यकतानुसार अस्पतालों अथवा पोस्ट कोविड सेंटर्स में भर्ती किया जाए।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के अंतर्गत सम्बद्ध किया गया कोई भी निजी अस्पताल, उनके यहाँ बेड खाली होने पर, योजना के पात्र किसी कोविड मरीज का निःशुल्क उपचार करने से इंकार करे, यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। प्रदेश में कोरोना संक्रमण कम हुआ है, परंतु हमें थोड़ी भी असावधानी नहीं बरतना है। हर व्यक्ति मास्क लगाए, एक दूसरे के बीच दूरी रखे, साथ ही कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन करे।

यह भी पढ़े.. मप्र में सख्ती: इंदौर-उज्जैन समेत इन जिलों मे बढ़ा कोरोना कर्फ्यू, पहले से मिली थोड़ी छूट

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश के शहरी क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी मास्क न लगाने, कोरोना कर्फ्यू का पालन न करने आदि पर कार्रवाई की जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में 18 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है। प्रदेश में किए जा रहे कोविड वैक्सीनेशन कार्य में यह सुनिश्चित किया जाए कि वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न हो। वेटिंग तथा ऑन द स्पॉट रजिस्ट्रेशन और वैक्सीनेशन की व्यवस्था भी की जाए।प्रदेश में 24 हजार 807 कोविड मरीजों को शासकीय एवं निजी अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज दिया जा रहा है।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि  प्रदेश में 7106 कोरोना के नए प्रकरण आए हैं। पिछले 24 घंटे में 12 हजार 345 मरीज स्वस्थ हुए हैं, सक्रिय मरीजों की संख्या 94 हजार 652 है। प्रदेश की साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 13% है तथा ग्रोथ रेट 1.2% रह गई है। आज की पॉजिटिविटी 10.7% है।प्रदेश के 7 जिलों में ही अब 200 से अधिक नए प्रकरण आए हैं। इंदौर में 1487, भोपाल में 982, जबलपुर में 452, ग्वालियर में 387, उज्जैन में 250, रतलाम में 244 एवं सागर जिले में 220 नए प्रकरण आए हैं।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: Tauktae ने पकड़ी रफ्तार, मप्र के इन संभागों में बारिश के आसार

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश में नए कोरोना प्रकरणों की संख्या में गत सप्ताह की तुलना में उल्लेखनीय गिरावट आई है। प्रदेश में 2 मई से 9 मई के बीच 83 हजार 395 कोरोना प्रकरण आए थे, वहीं 9 मई से 16 मई के बीच 59 हजार 622 कोरोना के नए प्रकरण आए हैं।प्रदेश के 9 जिलों छिंदवाड़ा, बड़वानी, भिंड, गुना, अशोकनगर, झाबुआ, खंडवा, बुरहानपुर, अलीराजपुर का साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत व उससे कम है।