पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी का निधन, प्रदेशभर में शोक की लहर

भोपाल।

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश जोशी का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। पिछले महीने ही कैलाश जोशी की तबीयत बिगड़ गई थी। जोशी को भोपाल के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनका इलाज चल रहा था। उस समय पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और शिवराज सिंह उन्हे अस्पताल देखने पहुंचे थे। इससे पहले भी जोशी की तबीयत बिगड़ने की खबर आई थी। उन्हें शुगर बढ़ने के चलते उन्हें परेशानी बढ़ गई थी। अप्रैल में उन्हें निमोनिया हो गया था। जोशी के निधन से पूरे प्रदेश में शोक की लहर है।

ऐसा रहा राजनैतिक सफर

 कैलाश जोशी भोपाल से सांसद रहे हैं। उनके बेटे दीपक जोशी प्रदेश भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके हैं।  सन 1955 में कैलाश जोशी हाटपीपल्या नगरपालिका के अध्यक्ष चुने गए। सन् 1962 से निरन्तर बागली क्षेत्र से विधान सभा के सदस्य रहे। सन 1951 में भारतीय जनसंघ की स्थापना से ही उसके सदस्य बने। आपातकाल के समय में एक माह भूमिगत रहने के बाद दिनांक 28 जुलाई, 1975 को विधान सभा के द्वार पर गिरफ्तार होकर 19 माह तक मीसा में नजरबंद रहे। 24 जून, 1977 को कैलाश जोशी मध्यप्रदेश के इतिहास में पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री हुए। हालांकि 1978 में अस्वस्थता के कारण उन्होंने मुख्यमंत्री पद त्याग दिया था। 

बीजेपी के कद्दावर नेता थे कैलाश जोशी 

कैलाश जोशी भाजपा के कद्दावर नेता थे।  कैलाश जोशी मध्यप्रदेश भाजपा के अध्यक्ष भी रहे हैं एक कपड़ा व्यापारी परिवार से ताल्लुक रखने वाले कैलाश चंद्र जोशी देवास से थे। जोशी जनसंघ बनने के बाद से ही इसके साथ जुड़े हुए थे। एक बार नगर पंचायत अध्यक्ष रहने के बाद जोशी 1962 से लगातार बागली विधानसभा से विधायक बनते आ रहे थे। 19 महीने तक मीसा के तहत जेल में बंद रहने के बाद जब वो बाहर आए तो बागली ने उन्हें फिर जिताया था। लेकिन जोशी की स्वीकार्यता बागली से बाहर भी थी और जनसंघ से बाहर भी। व्यवहार में कड़क जोशी के विरोधी भी कहते, क्या सीधा और सच्चा आदमी है। जनता पार्टी के संसदीय बोर्ड को भी जोशी का नाम ज़्यादा जंचा।

पहले गैर कांग्रेसी सीएम थे कैलाश जोशी

1975 में देश में आपातकाल की घोषणा हुई थी। आपातकाल के बाद साल 1977 में देश में चुनाव हुए थे। मध्य प्रदेश में भी विधानसभा के चुनाव हुए और जनता पार्टी को विधानसभा चुनावों में प्रचंड बहुमत से जीत मिली थी। 26 जून, 1977 को वह मध्य प्रदेश के 9वें और प्रदेश के पहले गैर-कांग्रेसी मुख्यमंत्री बने थे।

कार तक लोगों ने दी थी गिफ्ट

कैलाश जोशी में इतनी सादगी थी कि उनके पास कार तक नहीं थी। 17 मई 1981 को कैलाश जोशी लगातार पांचवी बार बागली से विधायक बने। इसके लिए कार्यकर्ताओं ने कैलाश जोशी का सम्मान कार्यक्रम रखा। अटल बिहारी वाजपेयी और विजया राजे सिंधिया भी इस कार्यक्रम में आईं। कार्यकर्ताओं ने चंदे से पैसा जुटाकर खरीदी गई एम्बेसडर कार की चाबी जोशी को सौंपी।

नेताओं ने किया शोक व्यक्त

मध्यप्रदेश की राजनीति को नई दिशा देने वाले, निर्धन और कमजोर की आवाज़, विनम्र व मृदुभाषी राजनेता, पूर्व मुख्यमंत्री श्रद्धेय कैलाश जोशी के अवसान के साथ ही एक युग का अंत हो गया।आज मध्यप्रदेश ने अपने एक अनमोल रत्न को खो दिया है। गरीबों, वंचितों के उत्थान और कल्याण के लिए अपना संपूर्ण जीवन होम कर देने वाले श्रद्धेय कैलाश जोशी जी सदैव मध्य प्रदेश की जनता के दिलों में रहेंगे। प्रदेश के लाल के चरणों में श्रद्धा के सुमन अर्पित करता हूं। अपनी मधुर वाणी से सहज ही लोगों का ह्रदय जीत लेने वाले प्रखर वक्ता, राजनीति के अजातशत्रु, आदरणीय स्व. कैलाश जोशी के अद्वितीय प्रशासकीय गुणों के सभी प्रशंसक थे। हम सब उनके सपनों के गौरवशाली, वैभवशाली और समर्थ मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध हैं।

शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री, मप्र

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी जी के दुःखद निधन का समाचार मिला मृदभाषी,सरल,सहज व्यक्तित्व के धनी कैलाश जी का निधन राजनीति क्षेत्र की एक अपूरणीय क्षति है परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ ईश्वर उन्हे अपने श्रीचरणो मे स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।

कमलनाथ, सीएम, मप्र

 भाजपा के आधार स्तंभ, ईमानदार और सादगी की प्रतिमूर्ति पूर्व मुख्यमंत्री आदरणीय कैलाश जोशी जी के निधन का दुःखद समाचार मिला। आदरणीय जोशी जी राजनीति के संत थे। विगत 4 दशक से मुझे उनका निरन्तर सानिध्य मिलता रहा।  आदरणीय कैलाश जोशी जी जुड़ी अनेक स्मृतियां मेरे जहन में है।लेकिन अब राजनीति में श्री जोशी जैसे व्यक्तित्व वाला दूसरा कोई हो नही सकता।  उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। भाजपा को मजबूत करने के लिए कठोर परिश्रम किया। उनके निधन से भाजपा- संगठन ने एक आधारस्तंभ खो दिया है। इस दुख की घड़ी में समूचे जोशी परिवार के प्रति मेरी संवेदना है।

गोपाल भार्गव, नेता प्रतिपक्ष, मप्र

सादर श्रद्धांजलि !!!भाजपा के तपोनिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री कैलाश जोशी जी के निधन की सूचना से द्रवित हूँ। बहुत खालीपन सा महसूस हो रहा है। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दे और परिजनों को ये अपार दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे।ॐ शांति!

कैलाश विजयवर्गीय, राष्ट्रीय महासचिव, भाजपा

आज देश ने एक महान नेता खो दिया,म प्र में जनसंघ से लेकर भाजपा तक दल को मजबूत करने में उनका बड़ा हाथ था।गरीबो के पक्ष में हमेशा खड़े रहे,प्रदेश में उनकी छवि एक सत्यवादी नेता की रही।ॐ शांति शांति शांति।

विजेंद्र सिंह सिसोदिया ,वरिष्ठ नेता, भाजपा

जीवन भर आदर्शों और सिद्धांतों के रास्ते पर चलने वाले राजनीति के संत और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री आदरणीय कैलाश जोशी जी का अवसान कभी न पूर्ण होने वाली क्षति है।उनके चरणों में शत शत नमन व विनम्र श्रद्धांजलि। ॐ शांति

नरोत्तम मिश्रा, पूर्व मंत्री , मप्र

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी जी के दुःखद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ ईश्वर उन्हे अपने श्रीचरणो मे स्थान व शोक संतप्त परिवार को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।

नकुलनाथ, कांग्रेस सांसद, मप्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here